दुनिया

अब तक भुगत रहा है मालदीव, तक रहा भारतीय पर्यटकों की राह, भयंकर गिर गया ग्राफ

माले
मालदीव का दौरा करने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या में इस वर्ष जून में 2.5 प्रतिशत की गिरावट आई है। पर्यटन मंत्रालय की और से जारी रिपोर्ट के अनुसार जून में अब तक समुद्र तट वाले देश में 44,013 से अधिक पर्यटक आ चुके हैं। रिपोर्ट ने कहा गया है कि एक जून से 12 जून के बीच वेलाना अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (वीआईए) पर कुल 44,013 पर्यटकों का स्वागत किया गया।

इस वर्ष की शुरुआत में पिछले वर्ष के 8,54,405 से 9.6 प्रतिशत की वृद्धि और 2022 के 7,47,183 से उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है। आंकड़ों से पता चलता है कि जून में हर दिन औसतन लगभग 3,668 पर्यटक आ रहे हैं और पर्यटक सात दिनों तक मालदीव में रह रहे हैं। मालदीव ने वर्ष 2024 की शुरुआत से अब तक कुल 9,36,258 आगंतुकों का स्वागत किया है। जनवरी के दौरान, देश ने 192,385 आगंतुकों का स्वागत किया, इसके बाद फरवरी में 217,392, मार्च में 194,227, अप्रैल में 168,366 और मई में 119,875 पर्यटक मालदीव आए।

वर्ष 2024 में अब तक दैनिक औसत 5,709 है, और पर्यटक औसतन आठ दिनों तक रह रहे हैं। चीन 60,699 आगंतुकों के साथ सबसे आगे है, उसके बाद रूस, इटली और संयुक्त राष्ट्र हैं, जो मालदीव के पर्यटन में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। भारत, जो पहले पिछले तीन वर्षों से पर्यटकों के आगमन का प्रमुख स्रोत था, 31,437 आगमन के साथ छठे स्थान पर आ गया है।

उल्लेखनीय है कि मजबूत ऐतिहासिक और सांस्कृतिक संबंधों वाले भारत और मालदीव के बीच संबंध जनवरी 2024 में मालदीव के कैबिनेट मंत्रियों की अपमानजनक टप्पिणियों और भारतीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ भारत पर लक्षित नस्लवाद पर चिंताओं के बाद तनावपूर्ण हो गए हैं।

 

Back to top button