Breaking News

राष्ट्रीय सेमिनार में नवाचारी शिक्षकों ने दी प्रस्तुति, पढ़ाई के साथ सीखने पर जोर …

कोरबा। जिले के शासकीय विद्यालय के नवाचारी शिक्षकों ने राष्ट्रीय स्तर के सेमिनार में अपना नवाचार प्रस्तुत किया।शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय उतरदा के व्याख्याता राकेश टंडन ने शासकीय प्राथमिक शाला तथा माध्यमिक शाला का ग्रामीण शिक्षा के विकास में योगदान पर अपना लघुशोध कार्य प्रस्तुत किया। जिसमें उन्होंने बताया कि प्राथमिक शिक्षा के विकास से ही शिक्षा का एक आधार स्तंभ खड़ा हो सकता है।

उन्होंने बताया कि आंगनबाड़ी तथा प्राथमिक शाला में शिक्षकों की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण होती है। यहीं से विद्यार्थियों की सीखने तथा भविष्य का निर्धारण होता है। इसलिए आंगनबाड़ी तथा प्राथमिक शालाओं में छात्र-छात्राओं की सीखने की क्षमता के अनुसार उनकी पहचान कर उनको सीखने के लिए प्रेरित करना चाहिए तथा इसके लिए उसके वातावरण तथा अन्य पहलुओं को भी ध्यान में रखना चाहिए। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सिल्ली के व्याख्याता ममता सिंह राजपूत ने ऑनलाइन कक्षाओं में विद्यार्थियों के अध्यापन संबंधी अपना नवाचार को बताया।

शासकीय हाई स्कूल उड़ता के शिक्षक राजेश नवरंग ने दिव्यांग छात्र – छात्राओं के शैक्षणिक विकास में एक शिक्षक के रूप में मेरी भूमिका पर अपना कार्य तथा लघु शोध पत्र प्रस्तुत किया। शासकीय  हाई स्कूल स्याहीमूड़ी की व्याख्याता सुश्री प्रभासाव ने गणित शिक्षण में टी एल एम की भूमिका के बारे में विस्तृत जानकारी प्रस्तुत किया। र शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय करतला के व्याख्याता श्रीमती निशा चंद्रा ने ऑनलाइन शिक्षण तथा विद्यार्थियों का खेल कूद से शारीरिक विकास के संबंध में अपना लघु शोध प्रस्तुत किया।

शासकीय प्राथमिक शाला भटगांव के शिक्षक नोहर चंद्रा ने सुदूर वनांचल क्षेत्र में विद्यार्थियों के शारीरिक एवं शैक्षणिक विकास के लिए अपने किए गए कार्यों का लघु शोध प्रस्तुत किया। शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला टांगामार के शिक्षिका श्रीमती उमा साहू ने मोहल्ला क्लास के संबंध में अपना कार्य तथा लघु शोध को प्रस्तुत किया। शासकीय प्राथमिक शाला  शाला गढ़कटरा के शिक्षक श्रीकांत भारिया ने विशिष्ट पिछड़ी जनजाति पहाड़ी कोरवा के शैक्षणिक एवं सामाजिक विकास में एक शिक्षक के रूप में मेरी भूमिका पर अपना कार्य तथा लघु शोध पत्र प्रस्तुत किया।

शासकीय प्राथमिक शाला नानपुलाली के शिक्षिका श्रीमती नंदिनी राजपूत ने मोहल्ला क्लास टी एल एम निर्माण के साथ-साथ खेल-खेल में शिक्षा से संबंधित अपना कार्य तथा लघु शोध प्रस्तुत की।शासकीय प्राथमिक शाला नोनबिर्रा की शिक्षिका श्रीमती राजकुमारी पटेल ने वर्णमाला शिक्षण तथा बागवानी शिक्षण से संबंधित अपनी लघु शोध प्रस्तुत किया, शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला रंगोली के शिक्षक शशिकांत जयसवाल ने विज्ञान संबंधी अपनी  गतिविधि तथा शोध कार्य प्रस्तुत किए।

शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय लाफा के व्याख्याता महावीर प्रसाद चन्द्रा ने राष्ट्रीय सेवा योजना के द्वारा जनजातियों के विकास के संबंध में अपनी कार्य तथा लघु शोध प्रस्तुत किया,  शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल बलगी खार के व्याख्याता एवं प्रभारी प्राचार्य श्रीमती ललिता साहू द्वारा रद्दी पेपर से टोकरी निर्माण के संबंध में अपना कार्य तथा लघु शोध प्रस्तुत किया। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पोन्डी लाफा के व्याख्याता लखनलाल धीवर ने भौतिक शिक्षण में विद्यार्थियों के विकास में मेरी योगदान पर अपना लघु शोध प्रस्तुत किया। शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला बिन्झरा के प्रधान पाठक ने सामुदायिक सहभागिता से विद्यालय के विकास के संबंध में अपना कार्य तथा लघु शोध कार्य प्रस्तुत किया।

शासकीय प्राथमिक शाला बड़मार के शिक्षक नरेंद्र प्रताप राठौर ने अपने विद्यालय के डिजिटल क्लासरूम बनाने तथा अतिरिक्त कक्ष निर्माण के संबंध में सामुदायिक सहभागिता से संबंधित अपना  कार्य तथा लघु शोध प्रस्तुत किया।शासकीय प्राथमिक शाला ढोंगदहरा के शिक्षक अशोक राठिया ने सामुदायिक सहभागिता तथा वनांचल क्षेत्र के विद्यार्थियों के शैक्षणिक तथा सामाजिक विकास संबंधित अपना कार्य तथा लघु शोध प्रस्तुत किया। कोरबी (धतूरा) संकुल के शिक्षकों ने शिक्षकों की टीम ने नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा प्रशिक्षण, सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा प्रशिक्षण, उत्कृष्ट विद्यालय प्रवेश परीक्षा प्रशिक्षण संबंधित अपने कार्यों को आंकड़ों सहित प्रस्तुत किया। जिसमें सच्चिदानंद राठौर, सुनील कुमार मिरी ,श्री अंजनी कुमार कश्यप तथा टीम के अन्य सदस्य  ने अपनी भूमिका निभाई।

शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय प्रतापपुर के व्याख्याता श्रीमती शशि पाठक ने गोबर से दिए निर्माण संबंधी अपना नवाचार तथा शोध कार्य प्रस्तुत किया। सुश्री संध्या यादव, सुश्री काजल पटेल  सेल्फ डिफेंस प्रशिक्षक ने विद्यालयों में सेल्फ डिफेंस के प्रशिक्षण की आवश्यकता संबंधी अपना कार्य तथा लघु शोध प्रस्तुत किए। शासकीय प्राथमिक शाला सराय सिंगार हरदी बाजार के शिक्षिका श्रीमती वसुंधरा कुर्रे ने मोहल्ला क्लास ,सजावटी सामान निर्माण,तथा आगमेन्टेड रियालिटी से संबंधित अपनी कार्य और लघुशोध प्रस्तुत की। छत्तीसगढ़ प्रगतिशील एवं नवाचारी शिक्षक महासंघ द्वारा आयोजित इस राष्ट्रीय शैक्षिक एवं इनोवेटिव टीचर्स मीट 2020 की इस दो दिवसीय कार्यशाला की अध्यक्षता  चंद्रशेखर शुक्ला प्रभारी महामंत्री संगठन छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के द्वारा किया गया।

मुख्य अतिथि जयसिंह अग्रवाल, मंत्री राजस्व एवं आपदा प्रबंधन, पुनर्वास, पंजीयन, छत्तीसगढ़ शासन रहे। विशिष्ट अतिथि मोहित केरकेट्टा विधायक पाली तानाखार, श्रीमती शिव कला कवर अध्यक्ष जिला पंचायत कोरबा, श्रीमती धनेश्वरी सिदार अध्यक्ष जनपद पंचायत पाली, उमेश चंद्रा अध्यक्ष नगर पंचायत पाली, नवीन सिंह ठाकुर सचिव छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी, प्रशांत मिश्रा सांसद प्रतिनिधि, शैलेश सिंह पूर्व विधायक प्रतिनिधि संजय भावनानी जिला उपाध्यक्ष भाजपा, मदन लाल राठौर भूतपूर्व उपाध्यक्ष जिला पंचायत कोरबा रहे। कार्यक्रम आयोजन में गजेंद्र तिवारी और सुनील जयसवाल की विशेष भूमिका रही।

Check Also

बंगाल हिंसा के विरोध में भाजपा के रौशन सिंह ने दिया धरना …

बिलासपुर । प्रदेश भाजपा नेतृत्व के आह्वान पर पश्चिम बंगाल हिंसा के विरोध में सोशल …

error: Content is protected !!
Secured By miniOrange