नई दिल्ली

मर-मर कर कैसे जिंदा हुआ अल-जवाहिरी, पहले भी हो चुका है मौत का दावा ….

नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र अमेरिका ने एक बार फिर दावा किया है कि उसने अल कायदा के खूंखार आतंकी अयमान अल जवाहिरी का खात्मा कर दिया है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने खुद इसकी पुष्टि की और उन्होंने कहा कि इंसाफ हो गया है। अल जवाहिरी अफगानिस्तान के काबुल में छिपा था। जहां अमेरिकी एजेंसी CIA ने एयर स्ट्राइक कर उसे ढेर कर दिया। हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब अल जवाहिरी के खात्मे का दावा किया गया है। इससे पहले भी कई बार अचानक अल जवाहिरी दुनिया के सामने आ चुका है जब उसे मृत बताया गया था।

दरअसल, ओसामा बिन लादेन के बाद आतंकी संगठन अल कायदा में नंबर दो माना जाने वाला अल जवाहिरी 9/11 आतंकी हमले में शामिल था। उसी अयमान अल-जवाहिरी की अमेरिकी ड्रोन-स्ट्राइक में मौत हो गई है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सोमवार को खुद इसकी पुष्टि की है। अमेरिकी सेना की तरफ से पाकिस्तान के जलालाबाद में ओसामा बिन लादेन को मार गिराए जाने के बाद जवाहिरी अलकायदा प्रमुख बना था। इसके बाद से ही उसके बारे में तमाम चीजें सामने आती रही हैं।

अल जवाहिरी की मौत की खबर साल 2020 में उड़ी थी। कई मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि अमेरिकी अधिकारियों ने भी माना था कि उसकी तबीयत ठीक नहीं रहती थी और शायद अब वह मर चुका है। लेकिन ठीक इसी साल अचानक अल-जवाहिरी एक वीडियो में दिख गया था। उसने टेप वीडियो के माध्यम से आग उगला था। उस समय उसने भारत में चल रहे कथित हिजाब विवाद पर जहर उगला था।

इसके पहले भी कई बार जवाहिरी की मौत की अफवाहें सामने आई थीं। यह भी कहा जा रहा था कि वह लंबे समय से बीमार है। हालांकि कभी उसकी मौत के बारे में कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया था। लेकिन इन सबके बीच एक सवाल यह भी सामने आया है कि क्या अगस्त 2021 में काबुल पर तालिबान के नियंत्रण हासिल करने के बाद उसे शरण मिली हुई थी। क्योंकि यह दावा किया जा रहा था कि तालिबान के अधिकरियों को शहर में उसकी मौजूदगी की जानकारी थी।

फिलहाल अब उसके एक बार फिर मरने का दावा किया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन को सबसे पहले अप्रैल में जवाहिरी के काबुल में छिपे होने की जानकारी मिली थी। अमेरिकी अधिकारियों को जवाहिरी को काबुल नेटवर्क से मिलने वाली मदद के बारे में जानकारी थी। इतना ही नहीं अमेरिकी खुफिया एजेंसियों के माध्यम से उसकी पत्नी, बेटी और परिवार की पहचान की गई।

बता दें कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सेनाओं के निकलने के एक साल बाद जवाहिरी को मार गिराया गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने इसे न्याय के लिए चलाया गया अभियान बताया। उन्होंने कहा, ‘इसमें कितना भी समय लगे, चाहे आप कहीं भी छिप जाएं, अगर आप हमारे लोगों के लिए खतरा हैं, तो अमेरिका आपको ढूंढ निकालेगा।’

Related Articles

Back to top button