Uncategorized

पूर्व मुख्यमंत्री के जेल जाने से आहत हैं पूर्व सीएम जीतनराम मांझी, नीतीश के काम पर उठाए सवाल; बोले- फिर CM बनने को तैयार …

पटना। चारा घोटाला के आखिरी मामले में लालू यादव को दोषी करार दिए जाने पर मांझी आहत है। उन्होंने भगवान श्रीकृष्ण और राम से लालू यादव की तुलना कर दी। हम अध्यक्ष ने कहा कि लालू यादव को सजा होने से गरीबों में हताशा है। जेल तो भगवान भी बार-बार जाते थे। लालू जी भी बार-बार जा रहे हैं।

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनने की इच्छा जाहिर की है। इसबार उन्होंने मीडिया के सामने अपनी इच्छा को प्रकट किया है। इससे पहले मांझी 9 महीने के लिए राज्य की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। उन्होंने कहा कि यदि उन्हें दोबारा मौका मिलेगा तो वे चूकेंगे नहीं और बिहार का विकास करेंगे। यह बातें उन्होंने गया के इमामगंज में संत शिरोमणि रैदास जयंती समारोह में कहीं।

सीएम नीतीश कुमार के विकास पर सवाल उठाते हुए मांझी ने कहा कि उन्हें नालंदा का विकास करने के लिए 17 साल का वक्त मिला। मुझे गया का विकास करने को केवल सात महीने मिले। जब मुझे मौका मिला तो हमने किसी से कम काम नहीं किया। जब उनसे पूछा गया कि कया वे दोबारा सीएम बनना चाहें तो तो उन्होंने हामी भरी। मांझी ने कहा कि उन्हें 2014 में 9 महीने के लिए मुख्यमंत्री बनने का मौका मिला था तो उन्होंने विकास के कई काम किए। यदि दोबारा मौका मिलेगा तो विकास के और काम करेंगे।

सीएम नीतीश ने बुधवार को अपने गृह जिले नालंदा के राजगीर में जू सफारी की शुरुआत की। इसे लेकर पत्रकारों ने उनसे पूछा कि जब वे मुख्यमंत्री थे तो अपने गृह जिला गया के लिए कुछ खास नहीं कर पाए। इसके जवाब में मांझी ने कहा कि लोगों को यह समझना चाहिए कि नीतीश पिछले 17 सालों से मुख्यमंत्री हैं और मुझे केवल 9 महीने सीएम बनने का मौका मिला था। सात महीने में हमने जो किया वो गया के लिए कुछ कम नहीं है।

मांझी ने कहा कि यदि उन्हें दोबारा मिलेगा तो वे नहीं चूकेंगे और बिहार की कमान संभालेंगे। हमने कभी मुख्यमंत्री बनने का सपना नहीं देखा था और ना ही देखा है। अगर मौका मिलेगा तो हम चूकेंगे नहीं।

Related Articles

Back to top button