लखनऊ/उत्तरप्रदेश

उत्तर प्रदेश में महिलाओं से अपराध पर मुख्यमंत्री सख्त, अधिकारियों को दी यह हिदायत ….

गोरखपुर। मुख्यमंत्री ने सोमवार को एक बार फिर महिलाओं से अपराध को लेकर अधिकारियों की नकेल कसी। कहा कि महिलाओं से अपराध पर एफआईआर दर्ज कर आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाए। जांच की प्रक्रिया जल्द पूर्ण कर न्यायिक प्रक्रिया में भेजें। ऐसे मामलों में किसी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

सीएम सोमवार की सुबह हिन्दू सेवाश्रम में जनता दर्शन में फरियादियों की समस्याएं सुन रहे थे। बस्ती जिले से आई महिला ने अपनी 14 साल की बेटी के साथ दुष्कर्म और उसे जख्मी करने का मामला उठाया। आरोप लगाया कि पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार किया लेकिन शेष की गिरफ्तारी नहीं हुई है। जबकि आरोपी उसे धमकियां देकर मामला वापस लेने का दबाव बना रहे हैं।

सीएम ने मण्डलायुक्त रवि कुमार एनजी एवं एडीजी अखिल कुमार को तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए। कहा कि महिला अपराध के मामले को पूरी संवेदनशीलता के साथ देखा जाए। ऐसे मामलों के दोष पाए जाने वाले अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

सीएम योगी 7.20 बजे से 7.55 बजे तक जनता दर्शन में 115 के करीब फरियादियों की समस्याएं सुनी। जनता दर्शन में कमिश्नर रवि कुमार एनजी, डीएम कृष्णा करुणेश, एडीजी अखिल कुमार, एसएसपी गौरव ग्रोवर, अजय सिंह, सीएम कैंप कार्यालय के आनंद सिंह, विनय गौतम समेत अन्य मौजूद रहे।

जनता दर्शन में आए छोटे बच्चों को सीएम का स्नेह मिला। उन्होंने बच्चों का हालचाल पूछा उन्हें चाकलेट भी प्रदान किया। बच्चों के साथ यूं घुलते मिलते देख उनकी माएं भी आह्लादित थी। पीड़ा से भरी फरियादी महिलाओं के बच्चों से सीएम का यह लगाव, उनका भी हौसला बढ़ा रहा था कि उनकी फरियाद अवश्य सुनी जाएगी।

सीएम जनता दर्शन के पूर्व मठ से बाहर आने पर शिवावतारी गुरु गोरखनाथ का दर्शन पूजन किया। उसके बाद ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की समाधि पर माथा टेक आशीर्वाद लिया। भ्रमण करते हुए गोशाला पहुंचे जहां उन्होंने तकरीबन 10 मिनट तक गो सेवा की। गायों को चना और गुड़ खिलाया। उसके बाद वापस लौटे तो साधना कक्ष की ओर अपने श्वान कालू एवं गुल्लू से मुलाकात कर उन्हें स्नेह दिया। उसके बाद जनता दर्शन के लिए प्रस्थान किए।

गोरखनाथ मंदिर स्थित सीएम कैंप कार्यालय में प्रभारी एवं जन सामान्य निवारण अधिकारी मोतीलाल सिंह के निधन के बाद अब यह दायित्य अस्थायी तौर पर सहायक अभिलेख अधिकारी गोरखपुर विनोद कुमार सिंह को मिला है। सोमवार से ही वे हर दिन मुख्यमंत्री के कैम्प कार्यालय श्री गोरक्षनाथ मंदिर परिसर गोरखपुर में सुबह 08 बजे से अपरान्ह 02 बजे तक जनसुनवाई करेंगे।

इस कार्य के लिए उन्हें अतिरिक्त रूप से कोई वेतन भत्ता नहीं मिलेगा है। जिलाधिकारी कृष्णा करूणेश ने अपने आदेश में स्पष्ट किया है कि वे अपने मूल कार्यों को भी देखेंगे। विनोद सिंह के अनुपस्थिति में अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम गोरखपुर विनय पाण्डेय जनसुनवाई की जाएंगी।

मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रशासनिक अधिकारियों ने यात्री निवास में तकरीबन 400 के करीब फरियादियों की समस्याएं सुनी। यहां सीएम कैंप कार्यालय के नव नियुक्त प्रभारी विनोद कुमार सिंह भी समस्याएं सुन रहे थे। उनकी समस्याओं का समाधान का आश्वासन दिया।

Related Articles

Back to top button