मध्य प्रदेश

जी 20 के डेलिगेट्स को भाई मध्यप्रदेश की कला और शिल्प

भोपाल। जी 20 विशेष थिंक 20 कार्यक्रम में देश-विदेश से आए डेलिगेट्स को कुशाभाऊ ठाकरे इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में रिस्पांसिबल टूरिज्म मिशन में लगाई गयी कला और शिल्प प्रदर्शनी खूब भा रही है। विदेश और देश से आए डेलिगेट्स, कलाकारों के स्टॉल में कला को निहारते और सराहते हुए नजर आए। पर्यटन बोर्ड के रिस्पांसिबल टूरिज्म मिशन द्वारा जी 20 डेलिगेट्स का प्रदेश की कला और संस्कृति से परिचय कराने के लिए आर्ट और क्राफ्ट प्रदर्शनी लगायी गयी है।

प्रदर्शनी में बुधनी के लकड़ी के खिलौने, महेश्वरी साड़ी, बैतूल का मेटल क्राफ्ट, उज्जैन का तेंदूपत्ता क्राफ्ट, पन्ना का ब्लॉक प्रिंट, अलीराजपुर की भील संस्कृति की सोवेनियर पेंटिंग, भोपाल का जरी जरदोजी, चंदेरी क्राफ्ट, ग्वालियर का चितेरा आर्ट और टेराकोटा आर्ट प्रमुख है। साथ ही महेश्वरी सारी का लूम, मिट्टी कला, गोंड एवं भील पेंटिंग और जरी जरदोजी की लाइव प्रदर्शनी भी है, जिस पर डेलिगेट्स स्वयं हाथ आजमा कर अनुभव ले सकते हैं। प्रमुख सचिव पर्यटन और संस्कृति और प्रबंध संचालक टूरिज्म बोर्ड  शिव शेखर शुक्ला ने बताया कि प्रदर्शनी में प्रदेश के शिल्पकारों को एक अंतरराष्ट्रीय मंच दिया गया है। इससे प्रदेश की कला और संस्कृति का देश-विदेश में प्रचार होगा।

प्रमुख सचिव श्री शुक्ला ने बताया कि मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा प्रदेश में रिस्पांसिबल टूरिज्म मिशन का कार्य किया जा रहा है। इसका उद्देश्य पर्यटन से समुदाय का सामाजिक और आर्थिक विकास एवं पर्यावरण-संरक्षण है। इससे स्थानीय समुदाय को पर्यटन से जोड़ कर पर्यटन स्थलों का विकास और पर्यटकों की संख्या में वृद्धि होगी। मिशन में होमस्टे योजना, महिलाओं के लिए सुरक्षित पर्यटन स्थल परियोजना, कौशल उन्नयन एवं प्रशिक्षण, हमसफर परियोजना, रिस्पांसिबल सोविनियर विकास प्रोजेक्ट, क्लीन डेस्टिनेशन और ग्रामीण पर्यटन परियोजना शामिल है।

Related Articles

Back to top button