मध्य प्रदेश

दुनियाभर में कल मनाया जाएगा 10वां योग दिवस, जोरों पर है तैयारी

खरगोन

देशभर में शुक्रवार को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा। हर साल 21 जून को मनाए जाने वाले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मध्य प्रदेश के निमाड़ अंचल में भी तैयारियां की जा रही हैं। योग दिवस के अवसर पर प्रदेश के खरगोन जिले के सभी विद्यालयों और शिक्षण संस्थाओं में सामूहिक योग दिवस का आयोजन शुक्रवार सुबह 6 बजे से शुरू होकर 07:50 बजे तक किया जाएगा।

खरगोन के जिला शिक्षा अधिकारी एसके कानुड़े ने बताया कि शहर में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन कृषि उपज मंडी में किया जाएगा। इस आयोजन में करीब 1500 से अधिक विद्यार्थी अपनी सहभागिता करेंगे। इस दौरान योग दिवस के अवसर पर लोकसभा क्षेत्र से नव निर्वाचित सांसद, विधायक और कलेक्टर सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी और जनप्रतिनिधि, समाजसेवी, विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारी और गणमान्य नागरिकों के साथ आमजन भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे ।

कैसे हुई योग दिवस को मनाने की शुरुआत

अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर योग दिवस को मनाने का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार को जाता है. 27 सितंबर 2014 में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त महासभा में दुनिया के तमाम देशों से योग दिवस को मनाने का आह्वान किया. पीएम मोदी के इस प्रस्‍ताव को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने स्‍वीकार कर लिया और तीन माह के अंदर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के आयोजन का ऐलान कर दिया. इसके बाद पहली बार 21 जून 2015 को पहला अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस मनाया गया.
योग दिवस की थीम

हर साल योग दिवस के लिए एक अलग थीम निर्धारित की जाती है. साल 2024 की थीम है- 'स्वयं और समाज के लिए योग' (Yoga for Self and Society). बता दें कि इस साल भारत समेत दुनियाभर में दसवें योग दिवस का आयोजन किया जाएगा. इस दिन को मनाने का उद्देश्‍य लोगों को योग के जरिए स्‍वस्‍थ और निरोगी जीवन के प्रति जागरुक करना है.

21 जून की तारीख ही क्‍यों?

योग दिवस मनाने के लिए 21 जून की तारीख को ही क्यों चुना गया, ये सवाल तमाम लोगों के मन में होगा.  योग दिवस की तारीख को तय करने के पीछे खास वजह है. दरअसल 21 जून को साल का सबसे लंबा दिन माना जाता है. इसे ग्रीष्म संक्रांति भी कहते हैं. इसके बाद सूर्य धीरे-धीरे दक्षिणायन होने लगता है. इस दिन को योग और अध्यात्म के लिए बेहद खास माना जाता है. यही वजह है कि 21 जून अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया गया.

 

Back to top button