Breaking News
.

तालिबान पंजशीर के शेरों को भूख से मारने की तैयारी में?, अनाज की किल्लत …

काबुल । अफगानिस्तान के प्रमुख मीडिया हाउस के मुताबिक, हाल ही में काबुल आए कुछ परिवारों ने कहा है कि पंजशीर में लोग गंभीर समस्याओं का सामना कर रहे हैं और यही हालात रहे तो लोग भूख से मर जाएंगे। प्रांत में जंग छिड़ने के बाद सड़कें बंद कर दी गई हैं, बिजली और संचार को भी ठप कर दिया गया है। इलाके में आखिरी जंग के दौरान अपने बेटे को खोने वाले एक परिवार ने कहा कि पंजशीर प्रांत में मानवीय संकट पैदा हो रहा है।

अफगानिस्तान के पंजशीर प्रांत में तालिबान जो आतंक से ना कर सका वह अनाज के सहारे करना चाहता है। काबुल पर कब्जे के करीब एक महीने बाद भी पंजशीर पर जीत हासिल ना कर सके तालिबान ने अब यहां के लड़ाकों और लोगों को भूख से मारने की तैयारी कर ली है। कट्टरपंथी इस्लामिक गुट ने पंजशीर के सभी रास्ते पूरी तरह बंद कर दिए हैं, जिससे वहां अनाज, दवाइयां और अन्य जरूरी वस्तुओं की भारी किल्लत हो चुकी है।

शायेस्ता मेहराबन ने कहा, ”हमले और संघर्ष बढ़ गए हैं, लोग भागकर पहाड़ों में चले गए हैं।” इस बीच पूर्व जाहिदी नेता अब्दुल राब सायाफ ने प्रांत में जल्द जंग के खात्मे की अपील की और कहा कि लड़ाई में आम नागरिकों को नुकसान नहीं होना चाहिे। सायाफ ने कहा, ”पंजशीर हमारे सम्माननीय और गौरवशाली देश का एक प्रसिद्ध हिस्सा है। लोगों के जीवन पर हमला करना अस्वीकार्य है। यह उदारता नहीं है, इसे रोकना होगा।”

दूसरी तरफ तालिबान ने पंजशीर में सामान्य हालात का दावा किया है। तालिबान नेता अनामुल्लाह समानगनी ने कहा, ”पंजशीर में तालिबान मुजाहिद्दीनों के तहत स्थिति सामान्य है। नरसंहार और लोगों को यातनाओं के दावे गलत हैं। यह सब अफवाह है।” हालांकि, अंतरिम सरकार के शरणार्थी मामलों के मंत्री खालीलुरहमान हक्कानी ने कहा कि बेघर और प्रभावित लोगों की मदद की प्रक्रिया पंजशीर में जल्द शुरू होगी। हक्कानी ने कहा, ”हम पंजशीर में और अन्य जगहों पर लोगों को जरूरी मदद देने की कोशिश करेंगे। लोगों ने कहा कि पंजशीर अभी भी बिना बिजली और संचार सेवा के है।

error: Content is protected !!