Breaking News
.

स्वामी प्रसाद मौर्य अवसरवादी थे, सपा नेता पर जमकर बरसीं भाजपा की कद्दावर दलित नेत्री बेबी रानी मौर्य …

लखनऊ। योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री व भाजपा की कद्दावर दलित नेत्री बेबी रानी मौर्य ने सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने सपा नेता को अवसरवादी करार देते हुए कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य अवसरवादी थे और बस अवसर खोजने आए थे। आप खुद देखिए कि उनकी क्या हालत है।

योगी सरकार में मंत्री बनी आगरा की दलित नेत्री व विधायक बेबी रानी मौर्य ने कहा कि मैं खुद जाटव समाज से आती हूं। भाजपा ने एक दलित को आगे रखकर मेयर, राज्यपाल, कैबिनेट मंत्री और भाजपा का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने हमेशा ही अपने कार्यकर्ता को सम्मान दिया। उनको क्रम के अनुसार आगे भी बढ़ाया। भाजपा में बने रहने वालों का हमेशा से ही सम्मान हुआ है। अनुमान लगाया जा रहा है कि बेबी रानी को भाजपा अगले चुनाव में सीएम फेस के तौर पर उतार सकती है।

भाजपा की दलित नेत्री बेबी रानी मौर्य ने कहा कि भाजपा को छोड़कर समाजवादी पार्टी में अपना भविष्य तलाशने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य को क्या मिला, आप खुद देखिए। विधानसभा चुनाव हारने के बाद अब कहीं के नहीं हैं। यह वही स्वामी प्रसाद मौर्य हैं जो कि भाजपा के साथ आरएसएस को भी बर्बाद करने की बातें कर रहे थे। अब लगता है कि वह नया ठिकाना तलाशेंगे। आपको बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव शुरू होने से ठीक पहले ही स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने कुछ साथियों के साथ भाजपा का साथ छोडकर समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए थे।

आगरा ग्रामीण सीट से विधायक बनीं भाजपा की दलित नेत्री बेबी रानी मौर्य का जन्म 15 अगस्त 1956 को हुआ था। बीए, एमएड की शिक्षा ले चुकीं बेबी रानी मौर्य 1995-2000 तक आगरा की मेयर रहीं। 2002 से 2005 के बीच राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य रहीं हैं। अगस्त 2018 से 15 सितम्बर 2021 के बीच उत्तराखंड की राज्यपाल रहीं। अब वह योगी सरकार में मंत्री हैं।

error: Content is protected !!