Breaking News
.

खैरागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस जीत तय, सीएम भूपेश बघेल बोले- भाजपा को स्थानीय नेतृत्व पर भरोसा नहीं, बाहर से बुला रहे प्रचारक …

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मुंबई से देर शाम रायपुर लौट आए। इस दौरान उन्होंने भारतीय जनता पार्टी और यहां के नेताओं पर तंज कसा और स्थानीय नेतृत्व को लेकर तीखी बात कह दी। सीएम भूपेश ने कहा कि भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व प्रदेश के नेतृत्व को नकार रही है। इन पर भरोसा नहीं है, इसलिए दूसरे राज्यों के नेताओं को प्रचार के लिए बुलाया जा रहा है। भाजपा की प्रदेश प्रभारी पुरंदेश्वरी भी इनकी उपेक्षा करती है। राष्ट्रीय नेतृत्व यहां के भाजपा नेताओं से किनारा करने लगे हैं। बता दें कि प्रदेश भाजपा में बड़े-बड़े नेताओं के रहते भाजपा को बाहर से स्टार प्रचारक बुलाने पड़ रहे हैं।

सीएम भूपेश ने राजनांदगांव जिले के खैरागढ़ उप चुनाव को लेकर कहा कि हमारी जीत तय है। भाजपा घबराई हुई है। भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व प्रदेश के नेतृत्व को नकार रही है। उप चुनाव में दूसरे राज्यों के नेताओं का सहारा लेना पड़ रहा है। दूसरे राज्यों के नेताओं को स्टार प्रचारक की जिम्मेदारी सौंपी गई है। राष्ट्रीय नेतृत्व के नेताओं पर भरोसा नहीं है। प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी भी यहां के नेताओं को तवज्जों नहीं देती। भूपेश बघेल इससे पहले भी कई बार कह चुके हैं कि दिल्ली में यहां के भाजपा नेताओं की कोई पूछ-परख नहीं है। राष्ट्रीय नेतृत्व स्थानीय नेताओं को नकार दिया है।

सीएम भूपेश ने 90 विधानसभा के दौरे को लेकर कहा कि पूरे प्रदेश का दौरा करेंगे। सभी विधानसभा को छूने की मेरी कोशिश रहेगी। वहां के स्थानीय लोगों से मुलाकात करेंगे और प्रदेश में चल रहे सरकार की योजनाओं का फीडबैक लेंगे। उन्होंने ऑनलाइन परीक्षा को लेकर NSUI पदाधिकारियों के मुलाकात पर कहा कि कल एनएसयूआई के पदाधिकारी आए थे। उन्होंने ऑनलाइन परीक्षा की मांग की है, इसमें विचार किया जाएगा।

इधर वरिष्ठ मंत्री ताम्रध्वज साहू को खैरागढ़ उपचुनाव की कमान सौंपी गई है। ताम्रध्वज साहू कांग्रेस की चुनाव अभियान समिति के संयोजक बनाये गए हैं। इस समिति में राज्य के वरिष्ठ नेताओं के साथ खैरागढ़ के प्रमुख कांग्रेस नेताओं को स्थान दिया गया है। वहीं कांग्रेस ने खैरागढ़ उप चुनाव को लेकर स्टार प्रचारकों की सूची जारी की है, जिसमें कांग्रेस प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, सीएम भूपेश बघेल, पीसीसी चीफ मोहन मरकाम समेत 27 दिग्गजों का नाम हैं।

error: Content is protected !!