Breaking News
.

केन्द्रीय मंत्री के स्वागत में जुटे समर्थक, पूरा शहर कट आउट, बैनर और पोस्टर से भरा पड़ा…

ग्वालियर। अपने केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के स्वागत के लिए समर्थकों में काफी उत्साह है। वे मुरैना बार्डर से ग्वालियर में रोड शो के साथ प्रवेश करेंगे। इस दौरान हाइवे से लेकर शहर तक 200 से ज्यादा स्थान पर उनका स्वागत होना है। पूरा शहर सिंधिया के बैनर-पोस्टर और कट आउट से भरा पड़ा है। शहर सहित हाइवे पर पुरानी छावनी तक सिर्फ सिंधिया ही सिंधिया दिख रहे हैं। इस रोड शो को सिंधिया का शक्ति प्रदर्शन ही माना जा रहा है। क्योंकि सिंधिया समर्थक ज्यादातर मंत्री शहर में आ चुके हैं या आने वाले हैं।

 

सिंधिया के समर्थन में सबसे ज्यादा पोस्टर-बैनर और कट आउट नदीगेट पर लगे हैं। इसके बाद जयेन्द्रगंज रोड, इंदरगंज, ऊंट पुल, पाटनकर बाजार और बाड़ा पर लगे हैं। नदीगेट ऐसा रास्ता है जहां सिंधिया दो बार गुजरेंगे। एक बार जब वह शिंदे की छावनी से होते हुए बाड़ा तक जाएंगे और दूसरा जब वह लौटकर जयविलास पैलेस जाएंगे। नदीगेट को इसलिए बैनर, पोस्टर से पाट दिया है। यह इसके अलावा शिंदे की छावनी, रामदास घाटी, बहोड़ापुर, मोतीझील भी बैनर-पोस्टर की भरमार है।

 

भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी एवं ग्रामीण अध्यक्ष कौशल शर्मा ने ग्रामीण क्षेत्रों में निरावली और गोरमी में उनका स्वागत होगा। इसकी तैयारियों को लेकर अलग-अलग दौर की चल रही हैं और तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। केन्द्रीय मंत्री सिंधिया निरावली तिराहे से शहर में प्रवेश करेंगे। वह इंदौर से आए विशेष रथ में सवार होकर आएंगे और शोभा यात्रा के रूप में कार्यकर्ताओं का काफिला चलेगा। स्वागत के स्थान और बढ़ सकते हैं, क्योंकि कार्यकर्ताओं के लगातार फोन आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि कार्यकर्ता पुष्प वर्षा कर सिंधिया का स्वागत करेंगे, जिससे अधिक समय न लग सके। वे विभिन्न मार्गों से होते हुए गोरखी पहुंचेंगे और जय विलास पैलेस पर शोभायात्रा समाप्त होगी।

 

सोमवार को मुरार सर्किट हाउस में आयोजित समीक्षा बैठक प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि केंद्रीय मंत्री सिंधिया के ग्वालियर प्रवास के दौरान शहर की यातायात व्यवस्था बेहतर होनी चाहिए तथा किसी भी शहर वासियों को यातायात से कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। इसके साथ सड़के सुगम यातायात के लिए बेहतर हों। सड़कों पर पेंच रिपेयरिंग आदि समय से पूर्ण कर ली जाए। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री की निरावली से महाराज बाड़े तक जन समर्थन यात्रा के दौरान साफ सफाई पेयजल की व्यवस्था सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थाएं समय से पूर्ण कर ली जावे। बैठक के दौरान संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना, आईजी अविनाश शर्मा, कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल, सीईओ जिला पंचायत आशीष तिवारी सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे।

 

सिंधिया निरावली चौराहे से शहर की सीमा में प्रवेश करेंगे। उसके बाद पुरानी छावनी, मोतीझील, बहोड़ापुर चौराहा, जेल मार्ग, रामदास घाटी, शिंदे की छावनी, फूलबाग गुरुद्वारा, मोती तबेला, नदी द्वार, जयेन्द्रगंज, इंदरगंज चौराहा, पुराना हाईकोर्ट, ऊंट पुल, पाटनकर बाजार, दौलतगंज, महाराज बाड़ा होते हुए गोरखी मंसूर शाह की दरगाह पर पहुंचेंगे। उसके बाद गोरखी, सराफा बाजार, गश्त का ताजिया, राम मंदिर, फालका बाजार, छप्परवाला पुल, नदी द्वार होते हुए जयविलास पैलेसे पहुंचेंगे। हर जगह उनका भव्य स्वागत होगा।

 

सिंधिया के स्वागत कार्यक्रम को लेकर कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आरपी सिंह ने कई सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने शोभा यात्रा को दुर्भाग्य पूर्ण यात्रा बताया है। उनका कहना है कि एक ओर सिंधिया ग्वालियर को अपना शहर कहते हैं। यहां कोविड से सैकड़ों लोगों की मौत हुई। अभी हाल ही में बाढ़ ने हजारों लोगों की जिंदगी को बर्बाद कर दिया। इसके बाद भी वह अपने स्वागत और शक्ति प्रदर्शन पर इतना पैसा खर्च करा रहे हैं। इससे ज्यादा दुर्भाग्य पूर्ण बात शहर के लिए नहीं हो सकती है।

error: Content is protected !!