Breaking News
.

वृंदावन के आचार्य नृसिंहदेव गोस्वामी का श्रीमद् भागवत सप्ताह राकेश जायसवाल के निवास में 6 अप्रैल से …

बिलासपुर। वृंदावन के आचार्य नृसिंहदेव गोस्वामी 6 अप्रैल से 12 अप्रैल तक अशोक नगर सरकंडा में श्रीमद् भाग्वद कथा करेंगे। 25 वर्ष पूर्व बिलासपुर के साइंस कॉलेज में पढ़ाई करने वाले महाराज जी का यह 235 वां श्रीमद् भाग्वद कथा है। भागवद् कथा के यजमान नगर निगम बिलासपुर के अपर आयुक्त राकेश जायसवाल और उनकी धर्मपत्नी श्रीमती वासंती जायसवाल हैं।

जानकारी के मुताबिक आचार्य नृसिंहदेव महाराज की भागवद़् कथा 6 अप्रैल दिन बुधवार को गौकर्ण कथा, कुन्ती स्तुति, परिक्षीत जन्म और श्री शुकदेव के प्रागट से होगा। इसके उपरांत कथा स्थल कान्हा सदन अशोक नगर से कलश शोभा यात्रा निकलेगी। कथा के दूसरे दिन 7 अप्रैल को सती और ध्रुव चरित्र पर महारज जी कथा करेंगे। 8 अप्रैल दिन शुक्रवार को भरत चरित्र, प्रहलाद चरित्र, अजामिलोपाख्यान व भग्वन नाम महिमा की कथा होगी। 10 अप्रैल दिन रविवार को श्री कृष्ण लीला और गोवर्धन पूजन के संबंध में आचार्य नृसिंहदेव गोस्वामी महाराज कथा करेंगे। 11 अप्रैल दिन सोमवार को महारास लीला, मथुरा लीला व श्री कृष्ण-रूकमणि विवाह होगा। 12 अप्रैल दिन मंगलवार को श्रीमद् भाग्वद कथा का समापान प्रद्युम्न जन्म, सुदामा चरित्र, श्री कृष्ण-उद्धव सम्मान, परिक्षीत मोक्ष के बाद पूजन-हवन और पूर्णाहूति का कार्यक्रम निर्धारित है।

श्रीमद़् भाग्वद कथा का यह आयोजन कंतेली वाले रामा जायसवाल, श्रीमती कमला जायसवाल, जायसवाल कंस्ट्रक्शन एवं कॉलोनाइजर के प्रमुख अशोक जायसवाल, श्रीमती शीला जायसवाल सहित जायसवाल परिवार के यशवंत जायसवाल, श्रीमती भुवनेश्वरी जायसवाल, श्रीमती सहोदरा जायसवाल, सतीश जायसवाल, श्रीमती भगवती जायसवाल, रामकुमार जायसवाल, श्रीमती तृप्ति जायसवाल, नरसिंह जायसवाल, श्रीमती यामिनि जायसवाल, शशांक जायसवाल, श्रीमती साक्षी जायसवाल, मयंक जायसवाल, वैभव जायसवाल, मानस जायसवाल, आयुष जायसवाल और निधि जायसवाल के द्वारा किया जा रहा है।

श्रीमद् भाग्वद कथा करने वाले आचार्य नृसिंह देव गोस्वामी का जन्म वृंदावन के गोस्वामी परिवार में हुआ है। इन्होंने 12 वर्ष की आयु में श्री राधारमण की सेवा प्रारंभ कर दी है।बाद में बिलासपुर साइंस कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई पूरी की। फिर बाद में संस्कृत और हिन्दी साहित्य में इन्होंने मास्टर डिग्री अर्जित की। महाराज जी ने स्कॉन से जुड़े छात्र-छात्राओं को श्रीमद् भाग्वद की शिक्षा दी। बिलासपुर को अपना शहर मानने वाले नृसिंहदेव गोस्वामी का यह भाग्वद कथा सप्ताह का 235 वां आयोजन है।

 

error: Content is protected !!