Breaking News
.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संत कबीर की समाधि और मजार का किया दर्शन, पूजन …

संतकबीरनगर। महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद रविवार की सुबह 9.35 बजे मगहर पहुंचे। राष्ट्रपति ने समाधि और मजार का दर्शन किया। इसके बाद परिसर में पौधरोपण कर विश्व पर्यावरण दिवस का शुभारंभ किया। इसके बाद कबीर के दोहे सुने।मथुरा से आये कलाकारों के नृत्य को भी महामहिम ने देखा। कबीर गुफा का भी महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दर्शन किया।

इससे पहले उनका हेलीपैड पर स्वागत राज्यपाल आनंदी बेन पटेल,  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डीएम दिव्या मित्तल और एसपी सोनम कुमार ने किया। स्वागत के बाद महामहिम सीधे सन्त कबीर की निर्वाण स्थली पहुंचे।

वहीं इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार देर शाम गोरखनाथ मंदिर पहुंच कर अपनी देश की प्रथम महिला सविता कोविंद के साथ गुरु गोरखनाथ का दर्शन-पूजन किया। नाथ पंथ की इस पीठ पर पधारे राष्ट्रपति का गोरक्षपीठाधीश्वर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में अभूतपूर्व स्वागत हुआ। राष्ट्रपति ने गोरखनाथ मंदिर में पूजा अर्चना के बाद गोशाला जा कर गोसेवा की। मुख्यमंत्री की तरफ से आयोजित जलपान में शामिल हुए। राष्ट्रपति के साथ प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भी उपस्थित रहीं।

101 वेदपाठी विद्यार्थियों के उच्चारित वेदमंत्रों की गूंज के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मुख्य मंदिर में शिवावतारी गुरु गोरखनाथ की प्रतिमा समक्ष पहुंचे और श्रद्धावनत होकर दर्शन किया। यहां राष्ट्रपति के साथ गुरु गोरक्षनाथ संस्कृत विद्यापीठ के आचार्य एवं प्रधान पुरोहित आचार्य रामानुज त्रिपाठी एवं उनकी टीम ने विधि विधान से पूजन की प्रक्रिया संपन्न कराई। गुरु गोरखनाथ का दर्शन पूजन करने के उपरांत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ब्राहृलीन महंत अवेद्यनाथ महाराज की समाधि पर पहुंचे। उनकी प्रतिमा पर पुष्पार्चन कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी।

गोरखनाथ मंदिर आगमन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मंदिर की गोशाला भी पहुंचे। यहां उन्होंने गोसेवा करते हुए गायों को गुड़ रोटी व हरा चारा खिलाया। गोवंश के बीच कुछ मिनट व्यतीत करते हुए राष्ट्रपति बेहद प्रसन्न नजर आ रहे थे। यहां उन्होंने मुख्यमंत्री से गोशाला के बारे में जानकारियां लीं।

मंदिर की गोशाला का भ्रमण करने के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मंदिर परिसर स्थित ब्राहृलीन महंत दिग्विजय नाथ स्मृति सभागार पहुंचे। यहां उनके सम्मान में मुख्यमंत्री गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ की तरफ से जलपान का कार्यक्रम था। कार्यक्रम में समाज के 170 अति विशिष्टजनों आमंत्रित थे। राष्ट्रपति एक-एक करके इन सभी विशिष्टजनों से मिले और उनसे परिचय प्राप्त किया।

error: Content is protected !!