Breaking News
.

महिला सिपाही से 60 लाख ठगने वाला ‘योग्य वर’ निकला नाइजीरियन, कनाडा का NRI बताकर दिया था शादी का झांसा …

नई दिल्ली। नोएडा की साइबर क्राइम थाना पुलिस ने मैट्रिमोनियल साइट पर युवतियों से दोस्ती कर शादी करने का झांसा देकर करोड़ों रुपये की ठगी करने वाले गिरोह के नाइजीरियन ठग को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने असम राइफल में तैनात महिला सिपाही को शादी का झांसा देकर 60 लाख रुपये ठग लिए थे।

एसपी साइबर क्राइम त्रिवेणी सिंह ने बताया कि मेरठ के दौराला स्थित समौली रोड निवासी नेहा असम राइफल में सिपाही हैं। 3 मई 2021 को उनके पति का हार्टअटैक से देहांत हो गया था। परिजनों और रिश्तेदारों के कहने पर उन्होंने सितंबर 2021 में एक मैट्रिमोनियल साइट पर प्रोफाइल बनाई थी। प्रोफाइल देखकर संजय सिंह नाम के व्यक्ति ने उनसे संपर्क किया। आरोपी ने बताया कि वह कनाडा का एनआरआई है।

आरोपी ने शादी करने का झांसा देकर विभिन्न बहानों से उनसे 60 लाख रुपये ठग लिए थे। साइबर क्राइम थाना पुलिस ने केस दर्ज कर जांच के दौरान शुक्रवार को दिल्ली के वसंत कुंज किशनगढ़ से नाइजीरियाई के गरुबा गुलमजे को गिरफ्तार किया। गरुबा ने ही खुद को एनआरआई बताकर महिला सिपाही से 60 लाख रुपये ठगे थे। पुलिस ने उससे ठगी में इस्तेमाल लैपटॉप, सात मोबाइल, एक पासपोर्ट, अमेरिका की एफबीआई सहित 15 विदेशी एजेंसियों के फर्जी दस्तावेज बरामद किए हैं।

आरोपी का वीजा खत्म : गरुबा ने बताया कि वह बालों का व्यापार करने के लिए बिजनेस वीजा पर भारत आया था। उसने कहा कि वह भारतीयों के बाल नाइजीरिया ले जाकर बेचता था। नाइजीरिया में भारतीय के बालों को काफी पसंद किया जाता है। हालांकि, पुलिस आरोपी की बात पर भरोसा नहीं कर रही है। पुलिस का कहना है कि एक साल पहले आरोपी का वीजा खत्म हो गया था, तब से आरोपी अवैध रूप से भारत में रहता था। आरोपी पहली बार भारत में मेडिकल वीजा पर आया। उसके बाद बिजनेस वीजा पर भारत आया।

ठगी के पैसे से नाइजीरिया में बनाया शानदार घर : थाना प्रभारी रीता यादव ने बताया कि आरोपी ठगी के पैसे को तुरंत नाइजीरिया ट्रांसफर कर देते थे। सिर्फ खुद के खर्चे के लिए ही अपने पास पैसा रखते थे। उन्होंने बताया कि आरोपी ने ठगी के पैसे से नाइजीरिया में आलीशान घर बनाया है। यहां पर उसकी पत्नी व बच्चे रहते हैं।

error: Content is protected !!