Breaking News
.

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव का अभिनव पहल : सरकारी अस्पतालों में 120 तरह की रक्त जांच होगी मामूली पैसे में ….

रायपुर (प्रमोद शर्मा) । सरकारी अस्पतालों में विभिन्न बीमारियों की जांच अब मामूली पैसे में होगी। मास्टर हेल्थ चेकअप के नाम पर बड़े अस्पताल दो से तीन हजार तक वसूलते हैं, इस पर कमी आएगी। सरकार यह सुविधा छत्तीसगढ़ के सभी जिला स्तर के अस्पतालों को देने वाली है।

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने दिल्ली बुलेटिन से विशेष बातचीत में बताया कि सरकारी अस्पतालों में जल्द ही 120 तरह के रक्त जांच की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी। अभी जिला स्तर के अस्पतालों में 40 से 50 तरह की जांच होती है। सभी जिला अस्पतालों को रक्त जांच के मामले में अपग्रेड किया जा रहा है, नई मशीनें दी जा रही है। कोशिश यह है कि किसी भी तरह के जांच पड़ताल के लिए लोगों को भटकना न पड़े। एक अनुमान के मुताबिक आने वाले कुछ महीनों में जिला स्तर के सरकारी अस्पतालों में 120 तरह की जांच होने लगेगी।

स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव ने कहा कि प्रारंभिक जांच पड़ताल में यदि बीमारी का पता चल जाए तब इलाज में आसानी होती है। अभी छत्तीसगढ़ म्रें रक्त जांच की सुविधा पर्याप्त नहीं है जिससे लोगों को निजी अस्पतालों और लैब में भटकना पड़ता है। उनसे जब पूछा गया कि इस जांच में कोरोना जांच भी शामिल है क्या ? तब उन्होंने कहा कि फिलहाल ऐसा संभव नहीं हो पाएगा लेकिन आने वाले समय में सभी जिला अस्पतालों में अन्य जाच के साथ-साथ कोरोना की भी जांच हो जाए ऐसा प्रयास किया जाएगा।

मालूम हो कि बड़े निजी अस्पताल में मास्टर हेल्थ चेकअप के नाम पर दो से ती हजार वसूला जाता है। ज्यादातर लोग ऐसा कराते भी हैं मगर सरकारी अस्पतालों में जब यह सुविधा मिलने लगेगी तब अपने आप निजी अस्पतालों का यह व्यवसाय ठप हो जाएगा।

मंत्री श्री सिंहदेव ने रक्त जांच के शुल्क पर कहा कि हम चाहते थे कि यह सुविधा पूरी तरह से नि:शुल्क रहे लेकिन विभाग की ओर से यह प्रस्ताव आया कि स्टेशनरी, कूरियर जैसे खर्चों के लिए न्यूनतम राशि लिया जाना चाहिए। अभी पंजीयन राशि तय नहीं है लेकिन यह अधिकतम 50 रुपए तक रहेगा।

error: Content is protected !!