Breaking News
.

धान खरीदी के नाम पर कांग्रेस सरकार ने मचा रखा है उठापटक : डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी…

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ को धान का कटोरा कहा जाता है। इसी धान के कटोरे में धान खरीदी के नाम कांग्रेस सरकार उठापटक मचा रखी है। धान खरीदी के नाम पर प्रदेश में किसानों को प्रताड़ित किया जा रहा है। सरकार हर साल धान खरीदने के लिए नए-नए कानून लागू कर रही है। उक्त बातें मस्तूरी विधायक डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कही।

उन्होंने कहा कि रकबा की कटौती में धांधली, टोकन देने में भ्रष्टाचार, बारदाने की कमी और बारदाने को अधिक रेट में खरीदने के कारण किसान भाई को कोई फायदा नहीं मिल पा रहा है। कांग्रेस सरकार 2500 रुपये प्रति क्विंटल धान खरीदने का ढोल पीटकर कमीशन का खेल खेल रही है। किसानों को कंगाल बनाने के षड्यंत्रों में लगी हुई है । तो वहीं किसान भाई अपनी समस्याओं के लिए परेशान हो रहे हैं।
किसान मोर्चा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य बी पी सिंह ने कहा कि किसान छत्तीसगढ़ की पहचान है और किसानों की मेहनत के कारण ही छत्तीसगढ़ को धान का कटोरा कहा जाता है। भाजपा के शासनकाल में अन्नदाता को कभी किसी किस्म की परेशानी नहीं हुई, परंतु जब से प्रदेश में कांग्रेस सरकार सत्ता में आई है तब से अन्नदाताओं को उनकी मेहनत का मोल भी सरकार नहीं दे पा रही है। ऊपर से बारदाने में 25 % सरकार मांग रही है जो पूर्णतया गलत है किसान लगातार आर्थिक परेशानी से जूझ रहा है साथ ही टोकन देने में भी भ्रस्टाचार व्यापत है ।

11 को सौंपेंगे ज्ञापन
किसान भाइयों की इन्हीं परेशानी को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी के मस्तूरी विधायक उप नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर कृष्णमूर्ति बांधी के नेतृत्व में 11 दिसंबर को सभी किसान भाइयों से आवेदन लेकर एसडीएम कार्यालय में ज्ञापन देने कहा गया है। अगर इसके बाद भी सरकार किसानों की समस्यायों का निवारण नहीं करती तो जल्द बड़ा आंदोलन खड़ा किया जाएगा।

error: Content is protected !!