Breaking News
.

केके बिड़ला फाउंडेशन व्यास सम्मान 2021 से लेखक असगर वजाहत को किया जाएगा सम्मानित ….

नई दिल्ली। आठ दिसंबर के.के बिड़ला फाउंडेशन ने हिंदी के प्रसिद्ध लेखक असगर वजाहत को प्रतिष्ठित ‘व्यास सम्मान’ प्रदान करने की बुधवार को घोषणा की। फाउंडेशन ने बताया कि प्रोफेसर रामजी तिवारी की अध्यक्षता वाली प्रतिष्ठित साहित्यकारों की एक चयन समिति ने वजाहत के नाटक ‘महाबली’ के लिए उन्हें 31वें ‘व्यास सम्मान’ से नवाज़ने का फैसला किया है। विज्ञप्ति के मुताबिक, यह नाटक 2019 में प्रकाशित हुआ है। बताया गया है कि ‘व्यास सम्मान’ पिछले 10 वर्षों के दौरान हिंदी में प्रकाशित साहित्यिक रचना के लिए दिया जाता है। पुरस्कार स्वरूप चार लाख, उद्धरण व फलक दिया जाता है।

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में 5 जुलाई 1946 में जन्मे वजाहत लंबे अरसे तक दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया के हिंदी विभाग में प्रोफेसर रहे हैं। उनके अनेक उपन्यास, नाटक, निबंध, कहानी-संग्रह और यात्रा-वृतांत प्रकाशित हो चुके हैं। वजाहत को 2009-10 में हिंदी अकादमी ने ’श्रेष्ठ नाटककार’ के सम्मान से नवाज़ा था। उन्हें 2014 में नाट्य लेखन के लिए संगीत नाटक अकादमी अवॉर्ड और 2016 में दिल्ली हिंदी अकादमी के सर्वोच्च शलाका सम्मान से भी सम्मानित किया गया था।

2019 में प्रकाशित उनका नाटक ‘महाबली’ बादशाह अकबर और कवि तुलसीदास को केंद्र में रखकर रचा गया है। केके बिड़ला फाउंडेशन के प्रतिष्ठित ‘व्यास सम्मान’ 2021 से हिंदी के लेखक असगर वजाहत को सम्मानित किया जाएगा। 

error: Content is protected !!