Breaking News
.

क्रिसमस-न्यू ईयर पर 10 राज्यों में भीड़ जुटाने पर रोक लगाई गई, उत्तर प्रदेश- मध्यप्रदेश और गुजरात में लगाना पड़ा नाइट कर्फ्यू …

नई दिल्ली। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का साया देश पर बढ़ता जा रहा है। ओमिक्रॉन के संक्रमण से गुजरात, महाराष्ट्र और दिल्ली में स्थिति लगातार खराब हो रही है। जिसे रोकने के लिए नाइट कर्फ्यू का सहारा लिया जा रहा है। वहीं पिछले दिनों सामने आए नए केसों का अध्ययन कर दिल्ली, महाराष्ट्र, तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु, ओडिशा के लिए नए गाइडलाइन जारी किया गया है।

कोरोना संक्रमण पर केंद्र सरकार की चेतावनी ने राज्यों को अलर्ट कर दिया है। नए ओमिक्रॉन वैरिएंट के खतरे को देखते हुए अब तक 10 राज्य क्रिसमस और न्यू ईयर से पहले पाबंदियां घोषित कर चुके हैं। सख्ती बरतते हुए मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और गुजरात जैसे राज्यों ने नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया है।

दिल्ली, महाराष्ट्र, कर्नाटक और ओडिशा में क्रिसमस और न्यू ईयर सेलिब्रेशन पर रोक लगा दी गई है। तेलंगाना के एक गांव ने ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए खुद ही 10 दिन का लॉकडाउन लगा दिया है।

राज्य में 37 दिन बाद गुरुवार को फिर नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। राज्य में रात 11 से सुबह 5 बजे तक आवा-जाही पर सख्ती रहेगी। सरकार ने कहा है कि जिम, कोचिंग, थिएटर, सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल में वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को ही एंट्री मिलेगी।

प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर के बाद से ही नाइट कर्फ्यू लागू है। हालांकि, केस कम होने के बाद सख्ती थोड़ी कम हो गई थी, लेकिन ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए सरकार फिर अलर्ट मोड में आ गई है। गहलोत सरकार ने भी गाइडलाइन के बारे में सोचना शुरू कर दिया है। इस पर आज बैठक भी होने वाली है।

यहां 8 प्रमुख शहरों में 31 दिसंबर तक नाइट कर्फ्यू लागू है। पाबंदी वाले शहरों में अहमदाबाद, राजकोट, सूरत, वडोदरा, जामनगर, भावनगर, गांधीनगर और जूनागढ़ शामिल हैं। नाइट कर्फ्यू की टाइमिंग रात 1 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगी। मौजूदा नाइट कर्फ्यू की पाबंदियों के तहत रेस्टोरेंट आधी रात तक 75% लोगों के साथ खुले रह सकते हैं। आधी रात तक होम डिलीवरी और टेक-अवे सेवाओं की भी अनुमति है।

राज्य में शुक्रवार को नाइट कर्फ्यू के आदेश जारी हो गए हैं। सरकार ने 25 दिसंबर रात से इसे लागू करने के आदेश दिए हैं। ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच उत्तर प्रदेश के नोएडा और लखनऊ में योगी सरकार ने 31 दिसंबर तक धारा 144 लागू कर दी है।

यहां क्रिसमस और न्यू ईयर पर होने वाले पब्लिक सेलिब्रेशन पर रोक लगा दी गई है। DDMA के आदेश के मुताबिक, अगले आदेश तक किसी भी होटल, बार या रेस्टोरेंट में 50 फीसदी सिटिंग कैपिसेटी की ही मंजूरी होगी।

राज्य सरकार ने दोबारा स्कूल बंद करने का फैसला लिया है। मुंबई नगर निगम ने क्रिसमस और न्यू ईयर के पब्लिक सेलिब्रेशन की नई गाइडलाइंस जारी की हैं। यहां अब आयोजन स्थल की 50% क्षमता तक ही लोग इकट्‌ठा हो पाएंगे। नासिक में वैक्सीनेशन नहीं कराने वाले लोगों के मॉल्स और सरकारी ऑफिसों में घुसने पर रोक लगा दी गई है।

यहां नए कोरोना वैरिएंट ओमिक्रॉन के 38 केस मिले हैं। इस बीच राज्य के गडेम नाम के गांव में एक ओमिक्रॉन संक्रमित मिलने पर सबकी सहमति से 10 दिन के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया है।

राज्य में 30 दिसंबर से 2 जनवरी तक लगातार दूसरे साल नए साल का जश्न मनाने पर रोक लगा दी गई है। हालांकि, क्रिसमस के जश्न पर रोक नहीं है, लेकिन चर्चों में बड़े पैमाने पर भीड़ जमा होने पर पाबंदी लगा दी गई है।

राज्य सरकार ने न्यू ईयर और क्रिसमस सेलिब्रेशन को लेकर कोई बड़ी पाबंदी नहीं लगाई है, लेकिन होटलों-क्लबों में केवल कोरोना वैक्सीनेशन कराने वालों को ही एंट्री दिए जाने की अनिवार्यता घोषित कर दी है। चेन्नई के समुद्री बीच पर भी सीमित संख्या में ही लोग न्यू ईयर सेलिब्रेट कर पाएंगे।

राज्य में न्यू ईयर को लेकर होने वाली पार्टियों के आयोजन पर पूरी तरह रोक लगा दी है। राज्य के होटल्स, रेस्टोरेंट्स और पब्लिक प्लेसेज पर यह रोक 31 दिसंबर और 1 जनवरी को लागू रहेगी।

 

error: Content is protected !!