मध्य प्रदेश

बेकाबू तेज रफ्तार कार ने मजदूरों को कुचला, 4 की मौके पर ही मौत, 13 मजदूर घायल ….

रतलाम। जिले में एक दर्दनाक हादसा हो गया। रतलाम से 18 किलोमीटर दूर बिलपांक थाना क्षेत्र में महू-नीमच हाईवे पर जमुनिया फंटे के पास बेकाबू कार ने एक दर्जन मजदूरों को रौंद दिया, जिसमें 4 मजदूरों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि 8 मजदूर और कार में बैठे सभी 5 सवार घायल हो गए। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से करीब आधा दर्जन घायलों की स्थिति गंभीर बनी हुई है, जो जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार ये मजदूर फोरलेन कि साईडिंग पर काम कर रहे थे। फोरलेन पर 100 मीटर दूर संकेतक भी लगा रखे थे। बावजूद इसके बेकाबू कार ने एक दर्जन मजदूरों को उड़ा दिया। टक्कर इतनी जोरदार थी कि 4 मजदूरों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। हादसे के बाद घटनास्थल पर चीख-पुकार मच गई। घायलों के अनुसार कार की रफ्तार इतनी तेज थी कि उसकी टक्कर से कई मजदूर दूर-दूर जा गिरे। सभी मजदूर एक ही परिवार के हैं।

इनमें से कुछ यूपी के अलीगढ़ के तो कुछ बुलंदशहर के रहने वाले हैं। घटना की सूचना पर आसपास के ग्रामीण और टोल कर्मी भी मौके पर पहुंचे, जिन्होंने घायलों को एंबुलेंस और लोडिंग वाहन की मदद से जिला अस्पताल भिजवाया है। घटना की सूचना पर रतलाम ग्रामीण विधायक दिलीप मकवाना भी अस्पताल पहुंचे, जहां उन्होंने मरीजों के उपचार के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं।

खबर है कि आरोपी कार चालक को हिरासत में ले लिया है। बिलपांक थाना पुलिस मामले की जांच में जुटी है। इधर इस दुर्घटना की खबर मिलते ही स्थानीय और टोल कर्मी भी मौके पर पहुंचे और घायलों को जिला अस्पताल भिजवाया।

हादसे में अलीगढ़ (यूपी) निवासी मजदूर 20 वर्षीय टीटू पुत्र सुरेश, 19 वर्षीय विकास पुत्र राकेश कश्यप 22 वर्षीय हरिओम पिता हरप्रसाद व 20 वर्षीय टीटू पुत्र सुरेश की मौत हो गई। वहीं, मजदूर 18 वर्षीय दीपक कुमार पुत्र जगमोहन सेन निवासी ग्राम मथना जिला अलीगढ़, 17 वर्षीय योगेश पुत्र महेश, 32 वर्षीय मनवीरसिंह पुत्र मंगल सिंह, 31 वर्षीय ओमपाल सिंह पुत्र मंगल सिंह, 18 वर्षीय अमित पुत्र दलवीर सिंह, 17 वर्षीय चंदू पुत्र शेर सिंह व 18 वर्षीय आशीष पिता नाहर सिंह सभी निवासी अलीगढ़ (यूपी) तथा कार में सवार 28 वर्षीय सौरभ पुत्र शैलेन्द्र जैन निवासी पैलेस रोड रतलाम, उनकी मां 52 वर्षीय शालिनी जैन व नानी 75 वर्षीय शांता जैन निवासी नई आबादी मन्दसौर को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि, कार सवार दो अन्य घायलों को निजी अस्पताल ले जाया गया है।

विधायक दिलीप मकवाना ने कहा कि मुख्यमंत्री से चर्चा कर मृतकों के स्वजन व घायलों आर्थिक मदद दिलाई जाएगी। आवश्यषकता होने पर घायलों को उपचार के लिए इंदौर भी रेफर किया जा सकता है। हादसे को लेकर प्रारंभिक तौर पर यह जानकारी मिली है कि कार चालक को झपकी आने पर वह अपना संतुलन खो बैठा और कार सड़क किनारे काम कर रहे मजदूरों को कुचलकर क्षतिग्रस्ति हो गई। हादसे के कारणों की पड़ताल की जा रही है।

Related Articles

Back to top button