मध्य प्रदेश

रतलाम में हिट एंड रन मामला: ट्रक ने सड़क पर बैठे लोगों को कुचला, 5 की मौत, 10 घायल

सातरुंडा चौराहे पर हुआ भीषण हादसा, सड़क पर बिखरी लाशें, मची चीख-पुकार

रतलाम। मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में रविवार को एक बड़ा सड़क हादसा हो गया, जिसमें 5 लोगों की जान चली गई। हादसा शहर से करीब 30 किलोमीटर दूर सातरुंडा चौराहे पर हुआ, जहां एक तेज रफ्तार ट्रक ने सड़क किनारे बैठे लोगों को रौंद दिया, जिसमें 5 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग घायल हो गए। घटना की सूचना मिलने के बाद बिलपांक थाना पुलिस मौके पर पहुंची और स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को जिला अस्पताल और मेडिकल कॉलेज पहुंचाया है। करीब एक दर्जन घायलों को जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती किया गया है, जिसमें दो की हालत गंभीर बताई जा रही है।
जानकारी के अनुसार हादसा रतलाम जिला मुख्यालय से 30 किलोमीटर दूर सातरूंडा के पास रतलाम इंदौर फोरलेन पर हुआ है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार ट्रॉले की रफ्तार ज्यादा थी और अचानक उसका टायर फट गया। जिससे वह अनियंत्रित होकर सड़क किनारे बैठकर बस का इंतजार कर रहे लोगों की ओर चला गया और कई को रौंद दिया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 6 लोगों की मौत हुई है, जबकि कलेक्टर ने 5 लोगों की मौत होने की पुष्टि की है। करीब एक दर्जन घायल अस्पताल में भर्ती हैं। हादसे के फुटेज देखकर और प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है। मौके पर लोगों के क्षत-विक्षत शव बिखरे पड़े थे। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल से मेडिकल कॉलेज भिजवाए हैं। हादसे के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई। हादसा इतना भयावह था कि जहां-जहां से ट्रॉला गुजरा, वहां-वहां लाशें पड़ी थीं। ट्रॉले के पहिये के नीचे भी कुछ लोग दबे थे। बताया जाता है हादसे का शिकार हुए लोग सातरुंडा माताजी के दर्शन करने आए थे। दर्शन करने के बाद वह सातरुंडा चौराहे पर बस का इंतजार कर रहे थे। इसी दौरान एक ट्रक अनियंत्रित होकर आया और टक्कर मार दी। कलेक्टर नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी और पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी भी मौके पर पहुंचे। घटनास्थल पर लावारिस हालत में एक बालिका भी मिली है, आशंका है कि बच्ची के स्वजन हादसे में हताहत हुए हैं। हादसे के बाद चालक ट्रक छोड़कर भाग निकला।
हादसे में इनकी हुई मौत
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार हादसे में भंवरलाल पिता गेंदालाल (42) निवासी बखतगढ़, रमेश पिता भीम प्रजापत बदनावर, किरण (35) घोड़ाघाट, भरत चंगेसिया (40) और पारस पाटीदार (45) दोनों निवासी सिमलावदा।
ये हुए घायल
घायलों के नाम राखी पत्नी कन्हैया लाल धाकड़ निवासी बागरौद, विशाल पुत्र भंवरलाल चौरड़िया निवासी बरवलगढ़, भागीरथ पुत्र दुलाजी निवासी घटघारा, खुशबू पुत्री भंवरलाल चौरड़िया बरवलगढ़, मंगल पुत्र गोपाल परमार निवासी ढोलाना, मधु पुत्री शंभू परमार निवासी ढोलाना, शांतिबाई पत्नी शंभूलाल परमार ढोलाना, संगीता पत्नी पारस निवासी घोड़ाघाट, निकीत पुत्री भंवरलाल परमार निवासी बदनावर बताए गए हैं। अन्य घायलों के नाम फिलहाल ज्ञात नहीं हो सके।
मुख्यमंत्री ने जताया शोक
प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी घटना पर शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट के जरिए कहा है कि रतलाम में ग्राम सातरुंडा के पास चौराहे पर हुई दुर्घटना में अमूल्य जिंदगियों के असमय काल कवलित व घायल होने का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।
20 दिन पहले भी हुआ था बड़ा हादसा
करीब 20 पहले भी रतलाम में ऐसे ही एक हादसे में 4 लोगों की जान चली गई थी। फोरलेन पर जमुनिया फंटे के पास बेकाबू कार ने करीब एक दर्जन मजदूरों को जोरदार टक्कर मार दी थी। इस हादसे में 4 मजदूरों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि 8 मजदूर घायल हो गए थे।

Related Articles

Back to top button