देश

बिहार में दशहरा के बाद बदला जा सकता है बीजेपी अध्यक्ष, ये नाम रेस में आगे …

पटना। बिहार में सत्ता से हटने के बाद बीजेपी की दिल्ली में कोर कमेटी की बैठक हुई थी। इसमें गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत बिहार के सभी वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। इस बैठक में आगामी आम चुनाव में बिहार की 40 में से 35 सीटों पर जीत का लक्ष्य रखा गया। इसके लिए संगठन को मजबूत करने और सांगठनिक स्तर पर बड़े बदलाव करने पर सहमति बनी। इसमें नए बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष का चयन भी शामिल है।

लोकसभा चुनाव 2024 में बिहार की 40 में से 35 सीटों को जीतने का लक्ष्य लेकर चल रही बीजेपी सांगठनिक स्तर पर बड़ा बदलाव करने वाली है। बिहार को नया बीजेपी अध्यक्ष अगले महीने मिल सकता है। अक्टूबर में दुर्गा पूजा और दशहरा के बाद बीजेपी की ओर से संजय जायसवाल की जगह नए प्रदेशाध्यक्ष का ऐलान किया जा सकता है। बिहार में बीजेपी का अगला मुखिया कौन होगा, इस बारे में अभी तक कोई खुलासा नहीं हुआ है। माना जा रहा है कि इसमें सामाजिक और क्षेत्रीय समीकरणों को ध्यान में रखा जाएगा। साथ ही नीतीश सरकार के खिलाफ मुखर हो सकने वाले किसी नेता को कमान सौंपी जाएगी।

बताया जा रहा है कि बीजेपी सामाजिक समीकरणों को ध्यान में रखते हुए किसी अति पिछड़ा वर्ग के नेता को प्रदेश अध्यक्ष बनाना चाहती है। संभावित प्रदेशाध्यक्ष की सूची में कई नेता शामिल हैं, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक संजीव चौरसिया का नाम सबसे आगे है। संजीव सिक्किम के राज्यपाल राम प्रसाद के बेटे और पटना के दीघा से विधायक हैं।

इनके अलावा राजेंद्र गुप्ता का नाम भी बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष की रेस में चल रहा है। गुप्ता फिलहाल बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष और एमएलसी हैं। इसके अलावा मुजफ्फरपुर से सांसद अजय निषाद, अररिया से सांसद प्रदीप सिंह, बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष प्रमोद चंद्रवंशी, पूर्व मंत्री जनकराम और संजय पासवान का नाम भी चर्चा में है। कहा ये भी जा रहा है कि पार्टी मौजूदा प्रदेशाध्यक्ष संजय जायसवाल को ही इस पद पर बरकरार रखने पर विचार कर सकती है।

Related Articles

Back to top button