Breaking News
.

राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किश्त से किसानों के खिले चेहरे…

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा किसानों की बेहतरी के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किश्त की राशि मिलने से किसानों के परिवार में त्यौहारों की खुशी दोगुनी हो गयी। उन्होंने दीपावली त्यौहार के ठीक पहले राशि मिल जाने से पूरे उत्साह से त्यौहार मनाया। सही समय पर राशि मिलने से खेती-किसानी में भी किसानों को मदद मिल रही है।

तखतपुर विकासखंड के ग्राम लाखासार निवासी जगदीश प्रसाद ने बताया कि उनके पास 10 एकड़ कृषि भूमि हैं। उन्हें 25 हजार रूपए प्राप्त हुए हैं। उन्होंने बताया कि दीपावली के ठीक पहले यह राशि मिलने से उन्होंने न केवल त्यौहार उत्साह से मनाया बल्कि इसी राशि से खेती-किसानी में भी मदद मिलेगी। वे कहते हैं कि इस योजना से किसानों की जिंदगी बदल गयी है। समय-समय पर राशि मिलने से अतिरिक्त आर्थिक बोझ नहीं होता।

ग्राम सरगांव निवासी श्रीमती कजरा वर्मा को तीसरी किश्त के रूप में 50 हजार रूपए की राशि मिली है। उनकी दस एकड़ कृषि भूमि है। परिवार में 6 सदस्य हैं। खेती-किसानी से ही परिवार का गुजर-बसर होता है। उन्होंने बताया कि इस राशि से परिवार की जरूरते पूरी करेंगी। इसके अलावा बच्चों की शिक्षा में भी यह राशि काम आएगी। वे कहती हैं कि इस योजना के चलते खेती. किसानी अब मुनाफे का व्यवसाय बन गया है।

धन्नूलाल लोनिया को 6 हजार 500 रूपए किश्त मिली है। वे कहते हैं कि इस योजना से उन्हें आर्थिक मजबूती मिली है। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा चलायी जा रही किसान हितैषी योजनाओं से हमारी जिंदगी बदल गयी है। अब हमें साहूकारों पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है।

error: Content is protected !!