Breaking News

छत्तीसगढ़ काव्यश्री सम्मान से कवि श्रवण कुमार साहू अलंकृत …

राजिम। विश्व हिंदी रचनाकार मंच के द्वारा छत्तीसगढ़ के हिंदी रचनाकारों के प्रोत्साहन हेतु संचालित सम्मान योजना 2021 के अंतर्गत हिंदी के प्रचार प्रसार में रचनात्मक योगदान के लिए गरियाबंद जिले के सक्रिय शिक्षक/साहित्यकार श्रवण कुमार साहू को “छत्तीसगढ़ काव्यश्री सम्मान 2021से प्रशस्ति पत्र प्रदान कर अलंकृत किया गया।

हिंदी भाषा के संवर्धन हेतु अपने गद्य एवम पद्य साहित्य के माध्यम से समाज जागरण हेतु कार्य करने वाले देश के अनेक नामचीन हस्तियों को यह सम्मान प्रदान किया गया। इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ से गरियाबंद जिले के ख्यातिप्राप्त शिक्षक एवम साहित्यकार श्रवण कुमार साहू को भी सम्मानित किया गया है।

ज्ञात हो कि साहित्यकार साहू ने अपनी रचनाओं के माध्यम कोरोनाकाल में भी लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जनजागरण को बढ़ावा देते हुए सामाजिक जागरूकता का कार्य सतत रूप से किया है।साहू शिक्षा के साथ- साथ विभिन्न साहित्यिक, सामाजिक एवम धार्मिक संस्थाओं से जुड़कर जन मानस तक अपनी रचनाओं से हमेशा प्रेरक के रूप में कार्य करते रहे हैं।इनकी कविताएं एवम आलेख अनेक पत्र पत्रिकाओं में सतत प्रकाशित होते रहता है, इनकी छत्तीसगढ़ी काव्य कृति”महानदी के धारी”प्रकाशित हो चुका है।

उन्हें इस सम्मान हेतु त्रिवेणी संगम साहित्य समिति राजिम नवापारा की ओर से मकसूदन साहू, “बरीवाला, रोहित माधुर्य, केवरा यदु, भारत प्रभु, छग्गु यास अडील, कोमल सिंह साहू, मोहनलाल मणिकपन, किशोर निर्मलकर, डॉ रमेश सोनसायटी, केवरा यदु, नरेंद्र पार्थ, सुरेश बंजारे, प्रिया देवांगन, जिला मानस संघ से मुन्ना लाल देवदास, अन्नपूर्णा साहू, उमेश साहू, संयुक्त शिक्षक संघ की ओर से जितेंद्र सिंहा, प्रदीप साहू, उपेंद्र प्रताप सिंह, राखी मौर, कौशिल्या साहनी, साहित्यिक मंच की ओर से तुषार शर्मा, दिलीप टिकरिहा, चेतन चौहान, सुरेंद्र अग्निहोत्री,  ताराचंद साखरे, पुरुषोत्तम चक्रधारी सहित अनेक इष्ट मित्रों ने हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित की है।

error: Content is protected !!