Breaking News
.

ताड़मेटला नक्सली हमले पर अमित जोगी ने कहा- सरकार के चार मंत्री क्यों चुप हैं?

रायपुर। सुकमा अंतर्गत ताड़मेटला में नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों के प्रति पूर्व विधायक व JCCJ अध्यक्ष अमित जोगी ने अपनी संवेदना प्रकट की है। और कहा है कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) नक्सली हमले में भारत माता और छत्तीसगढ़ महतारी के लिए बलिदान देने वाले हमारे बहादुर जवानों की शहादत को सलाम और घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की परम पिता परमेश्वर से प्रार्थना करती है। कोरोना के वैश्विक संकट के इस नाज़ुक दौर के दरमियान नक्सलियों की इस क्रूर और कायर हरकत की हम कड़ी निंदा और सरकार से ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए के.विजय कुमार समिति की सभी सिफ़ारिशों को लागू करते हुए ठोस कदम उठाने की मांग करते हैं।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के इतिहास में सैकड़ों नक्सली हमले हुए हैं किंतु ऐसा पहली बार देखने को मिला है कि नक्सली हमले, जिसमें 17 जवान शहीद हो गए, इसके 24 घंटे बीत जाने के बाद भी सरकार के एक भी मंत्री ने नक्सलियों के ख़िलाफ़ एक भी शब्द नहीं बोला है। मुख्यमंत्री ने कल के नक्सली हमले के बाद संभलने की बात कही है। गृहमंत्री हमेशा की तरह बेख़बर हैं। प्रभारी मंत्री हमेशा की तरह बेपरवाह हैं। सुकमा जिले के मंत्री कहते हैं कि जवानों से चूक हो गई है। राज्य सरकार का ये रवैया बेहद चिंताजनक है और बस्तर के चुनावी परिणामों के परिपेक्ष्य में जनता के बीच कई सवाल खड़े करता है।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) का प्रदेश की जनता और विशेषकर बस्तर में पदस्त बहादुर जवानों की ओर से सरकार के इन चारों मंत्रियों से सीधा सवाल है: आपने नक्सलियों की निंदा अब तक क्यों नहीं की है? आख़िर ये रिश्ता क्या कहलाता है?

error: Content is protected !!