Breaking News
.

हार्दिक और भुवनेश्वर को मैच से बाहर कर देना चाहिए : सुनील गावस्कर…

नई दिल्ली। न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले मैच से पहले कई विशेषज्ञों ने विराट कोहली की प्लेइंग इलेवन में बदलाव करने की जरूरत हैं। मेन इन ब्लू रविवार को दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में ब्लैक कैप्स से भिड़ेंगे। मैच से पहले पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा है कि  स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या और सीनियर तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को न्यूजीलैंड के खिलाफ करो या मरो के मुकाबले से बाहर कर देना चाहिए। वहीं पूर्व टेस्ट ओपनर और कमेंटेटर आकाश चोपड़ा की दलील है कि हार्दिक पंड्या को बाहर करने का कोई मतलब नहीं है। ऐसा कर आप अपनी चयन प्रक्रिया पर ही सवाल उठाएंगे।

क्रिकेटर से कमेंटेटर बने सुनील गावस्कर ने कहा कि अगर हार्दिक गेंदबाजी करने में असमर्थ हैं तो उनकी जगह युवा बल्लेबाजी सनसनी इशान किशन को लेना चाहिए। गावस्कर ने यह भी सुझाव दिया कि भुवनेश्वर के स्थान पर शार्दुल ठाकुर को अंतिम एकादश में शामिल किया जाना चाहिए, जो वर्तमान में अपनी फॉर्म से जूझ रहे हैं। गावस्कर ने स्पोर्ट्स तक से कहा, ‘अगर हार्दिक पंड्या गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं, कंधे की चोट के कारण उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ मैच में सिर्फ बल्लेबाजी ही की। इशान किशन शानदार फॉर्म में हैं, इसलिए मैं निश्चित रूप से उन्हें पंड्या से आगे मानूंगा।’

गावस्कर ने आगे कहा, ‘टीम इंडिया को बहुत अधिक बदलाव नहीं करने चाहिए, क्योंकि इससे यह संदेश जाएगा कि प्रतियोगिता में एक हार के बाद ही टीम घबरा गई है।’ 72 वर्षीय गावस्कर को लगता है कि अगर भारत अपने शेष चार मुकाबलों को जीत लेता है, तो वे आसानी से नॉकआउट में जगह बना सकते हैं और फाइनल में भी पहुंच सकते हैं।

गावस्कर ने कहा, ‘यदि आप बदलाव करते हैं, तो यह दिखाएगा कि टीम घबरा गई है। घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आपके पास एक अच्छी टीम है। हां, आप एक अच्छी टीम से एक मैच हार गए हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आगे जाकर, भारत मैच नहीं जीतेगा या टूर्नामेंट नहीं जीतेगा। यदि आप अगले 4 मैच जीत जाते हैं, तो आप सेमीफाइनल में पहुंच सकते हैं। वहां से संभवत: फाइनल में भी। इसलिए, बहुत अधिक बदलाव करने की आवश्यकता नहीं है।’

हार्दिक ने इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज के बाद से कोई अंतरराष्ट्रीय टी20 मैच नहीं खेला है। न तो उन्होंने आईपीएल 2021 में मुंबई इंडियंस के लिए गेंदबाजी की। टी20 विश्व कप में उन्होंने दोनों अभ्यास मैच और पाकिस्तान के खिलाफ मैच में गेंदबाजी नहीं की। इससे उनकी फिटनेस और बाद में विश्व कप टीम में उनके चयन पर सवाल खड़े हो गए हैं।

आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘यह कहानी जारी रहेगी। जब आप हार्दिक पंड्या को देखते हैं और देखते हैं कि वह गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं तो आप महसूस करने के लिए बाध्य हैं कि क्या वह वास्तव में टीम में फिट बैठते हैं?’ उन्होंने कहा, ‘सवाल गलत नहीं है। उन्होंने 2021 में बहुत ज्यादा रन नहीं बनाए हैं। लेकिन मैं पाकिस्तान के खिलाफ उनके प्रदर्शन पर विचार करूंगा। आप हार्दिक जैसे स्तरीय खिलाड़ी को सिर्फ आठ गेंद के आधार पर कैसे आंक सकते हैं?’

आकाश ने कहा, ‘फैक्ट यह है कि उन्होंने इस साल बल्ले से प्रभाव नहीं डाला है। जब वह गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं तो आपके पास 5 गेंदबाजी विकल्प ही बचते हैं। लेकिन हार्दिक के स्थान पर इशान? नहीं। अगर वह हार्दिक की जगह लेते हैं, तो उन्हें रोहित के साथ ओपनिंग करनी होगी। फिर राहुल नंबर 4 पर, पंत नंबर 5 पर और सूर्यकुमार नंबर 6 पर? क्या यह वास्तव में समझ में आता है?’ आकाश ने कहा, ‘अगर एक हार से इतना बड़ा बदलाव होता है तो यह सिर्फ दर्शाता है कि हमें अपनी चयन प्रक्रिया पर विश्वास नहीं है। इशान के समावेश से भारतीय चयन फिलॉसफी पूरी तरह से बदल जाएगी। हालांकि, भारत अपने गेंदबाजी आक्रमण में बदलाव कर सकता है।’उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ हार्दिक के साथ बने रहना चाहिए। इशान को अपने मौके का इंतजार करना होगा।’

error: Content is protected !!