Breaking News
.

कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस : सीएम शिवराज ने अफसरों को चेताया, अब जरा भी बर्दाश्त नहीं होगी लापरवाही…

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नये फॉर्म में आ गए हैं. वे रोज अफसरों को चेता रहे हैं कि लापरवाही और भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं करेंगे. सोमवार को कलेक्टर्स-कमिश्नर्स कॉन्फ्रेंस में उन्होंने साफ-साफ कह दिया कि वे काम देखने के लिए औचक निरीक्षण पर निकलेंगे और काम की असलियत देखेंगे. सीएम ने कमिश्नर कलेक्टर आईटी कॉन्फ्रेंस के जरिए सरकारी कामकाज की समीक्षा करते हुए कहा कि 7 अक्टूबर से जनकल्याण सुराज अभियान की शुरुआत होगी. सुराज का मतलब है बिना लिए-दिए पात्र हितग्राहियों को लाभ मिले. सीएम ने अफसरों से कहा इन शब्दों को हृदय में बैठा लीजिए, यही सरकार का मिशन है.

 

अचानक निरीक्षण करेंगे सीएम

सीएम शिवराज ने कहा कई जगह जनदर्शन में खामियां मिली हैं. अब हकीकत परखने के लिए मैं खुद औचक निरीक्षण पर निकलूंगा. पीएम आवास में अफसरों के लोगों से पैसे लेने की शिकायतें मिली हैं. उनके खिलाफ जांच कर कार्रवाई की जाएगी. सीएम शिवराज ने कहा, ‘अब सरकार की कार्यप्रणाली को बदला जाएगा’.

 

‘मैं स्वयं करूंगा हेल्पलाइन की मॉनिटरिंग’

प्रधानमंत्री ने कोविड-19 वैक्सीनेशन में जन भागीदारी की भूमिका को सराहा था और अब इसे सरकार कार्यप्रणाली का हिस्सा बनाएगी. सीएम शिवराज ने साफ कर दिया कि ज़रूरतमंद लोगों का हक नहीं मारा जाएगा. सीएम हेल्पलाइन की वे खुद हर महीने मॉनिटरिंग करेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा मंगलवार से जन सुनवाई शुरू हो रही है. कलेक्टर, कमिश्नर बाकी अफसर भी जनता से मिलेंगे और उनकी समस्याओं का समाधान करेंगे. मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक में कहा कि आने वाले त्योहारों और उपचुनाव में सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता और बेहतर होना चाहिए. त्योहारों के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत रखा जाएगा. कोविड-19 काम के लिए निर्देशों का पालन करना होगा.

 

महिला सुरक्षा प्राथमिकता

मुख्यमंत्री ने कहा- महिला अपराध रोकने के लिए संवेदनशील होने की जरूरत है. छेड़छाड़ के मामलों में सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. सीएम ने उन जिलों के अफसरों की पीठ भी थपथपाई, जिन्होंने भू माफिया के खिलाफ सख्त कार्रवाई की. उज्जैन, शहडोल, सतना, देवास, सिवनी, सिंगरौली में हजारों एकड़ जमीन भू माफिया से मुक्त कराई गई है. 1 जनवरी से 31 अगस्त तक 8000 से ज्यादा गंभीर अपराध दर्ज किए गए हैं. सीएम ने कहा- अनुकंपा नियुक्ति को लेकर समय सीमा में नियुक्ति आदेश जारी करना होगा. सीएम शिवराज ने सूदखोरों के ऊंचे दर्जे पर ब्याज वसूलने को गलत करार दिया है. मुख्यमंत्री ने कहा-माफिया को किसी भी कीमत पर छोड़ा नहीं जाएगा.

 

रेटिंग से होगा अधिकारियों के काम का आंकलन

मुख्यमंत्री ने अब अफसरों के कामकाज का पैमाना भी तय कर दिया है. इसके तहत रेटिंग के आधार पर अफसरों के काम का आंकलन होगा.

error: Content is protected !!