Breaking News
.

दिल्ली में मिले ओमिक्रॉन के 4 नए मरीज, 5 अस्पताल में भर्ती…

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के मामले बढ़ते जा रहे हैं। चार और मरीजों में ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हुई है, जिससे यहां कुल मामलों की संख्या बढ़कर 6 हो गई है। इन सभी छह मरीजों में हल्के लक्षण हैं और उनमें से एक ठीक भी हो गया है, लेकिन 5 मरीज अब भी अस्पताल में भर्ती हैं।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को बताया कि दिल्ली में अभी तक 6 लोग ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित पाए गए हैं जिनमें से 1 मरीज ठीक होकर घर जा चुका है। ओमिक्रॉन के सारे मामले विदेश से आए लोगों में पाए गए हैं, सभी मामले स्टेबल हैं और फिलहाल स्थिति नियंत्रण में हैं। जैन ने बताया कि वर्तमान में 35 कोविड संक्रमित मरीज और 3 संदिग्ध मामले एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती हैं। दिल्ली सरकार स्थिति पर नजर बनाए हुए है।

विदेशों से आए कुल 74 लोगों को दिल्ली एयरपोर्ट से अब तक LNJP में भर्ती कराया गया था, इनमें से 36 को डिस्चार्ज किया जा चुका है, अभी 38 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं। इनमें से 35 कोरोना मरीज हैं, जिनमें से 5 ओमिक्रॉन पॉजिटिव हैं और 3 संदिग्ध हैं। एक ओमिक्रॉन संक्रमित को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है।

अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि दिल्ली के पहले ओमिक्रॉन मरीज को एलएनजेपी अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। रांची का रहने वाला यह 37 वर्षीय व्यक्ति 2 दिसंबर को कतर एयरवेज की फ्लाइट से तंजानिया से दोहा और वहां से दिल्ली आया था। वह एक हफ्ते तक दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सिबर्ग में रहा और उसमें हल्के लक्षण थे। लोक नायक जय प्रकाश (एलएनजेपी) अस्पताल को कोविड -19 के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए नामित किया गया है।

बता दें कि, कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा था कि अगर जरूरत पड़ी तो उनकी सरकार क्रिसमस और नववर्ष से जुड़े कार्यक्रमों के आयोजन पर भी रोक लगा सकती है। हालांकि, उन्होंने स्पष्ट किया कि वर्तमान के हालात को देखते हुए ऐसे किसी उपाय की आवश्यकता नहीं है।

केजरीवाल ने सोमवार को  कहा कि दिल्ली सरकार वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है और वह इस मुद्दे पर लगातार विशेषज्ञों से संपर्क बनाए हुए हैं। दिल्ली में अब तक ओमिक्रॉन वैरिएंट के दो मरीज सामने आए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर जरूरत पड़ेगी तो हम प्रतिबंध लगाएंगे। वर्तमान में प्रतिबंधों की कोई आवश्यकता नहीं है। हम लगातार विशेषज्ञों के संपर्क में हैं और अगर दिल्लीवासियों की सुरक्षा के लिए कोई प्रतिबंध लगाने की जरूरत पड़ी तो हम ऐसा करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार पूरी तरह तैयार है। मैंने ऑक्सीजन आपूर्ति, बेड्स और दवाओं के संबंध में कई समीक्षा बैठक की है। हम दिल्ली में ओमिक्रॉन संकट नहीं चाहते, लेकिन अगर ऐसा कुछ होता है तो हम तैयार हैं।

error: Content is protected !!