दुनिया

खुलासा: बगदादी ने जेल के दौरान कई यातनाएं सही, जिसके बाद उसकी जिंदगी बदल गई और वह ज्यादा खूंखार हो गया

नई दिल्ली

दुनिया में आतंकवाद फैलाने वाले सबसे बड़े खूंखार ग्रुप आईएसआईएस के चीफ रहे अबू बकर अल बगदादी को लेकर उसकी पत्नी ने सनसनीखेज खुलासे किए हैं। अबू बकर को अक्तूबर 2019 में अमेरिकी सैनिकों ने एक ऑपरेशन में मार गिराया था। वहीं, उसकी पत्नी उम्म हुजैफा इराक की जेल में बंद है। उस पर आतंकवाद फैलाने समेत कई संगीन आरोप है। हुजैफा ने एक इंटरव्यू में बताया कि अबू बकर बेहद क्रूर आदमी था। उसने न सिर्फ सैकड़ों को मौत के घाट उतारा बल्कि,महिलाओं के प्रति भी उसके अत्याचार बेहद संगीन थे। उसकी बीवी ने खुलासा किया कि जब वह अमेरिकी जेल में बंद था, तब उसके साथ यौन शोषण होता था। बगदादी ने जेल के दौरान कई यातनाएं सही, जिसके बाद उसकी जिंदगी बदल गई और वह ज्यादा खूंखार हो गया।

इराकी जेल में बंद अबू बकर अल बगदादी की पली पत्नी उम्म हुजैफा ने बीबीसी को दिए इंटरव्यू में कहा कि उसकी बगदादी से शादी तब हुई थी जब सीरिया और इराक के बड़े हिस्से पर आईसआईएस का कब्जा हो चुका था और उस वक्त बगदादी ही आईएसआईएस का प्रमुख था। इराकी पुलिस इस वक्त हुजैफा के खिलाफ आतंकवाद से संबंधित अपराधों के लिए उसकी जांच की जा रही है।

बगदादी का यौन शोषण हुआ
बगदादी की पहली बीवी हुमैजा का कहना है कि वह 2004 के बाद काफी बदल गया था। मुझे उसने कभी इसकी वजह तो नहीं बताई लेकिन, मुझे यकीन है कि अमेरिकी जेल में रहते हुए बगदादी पर काफी जुल्म हुए थे। उसने इंटरव्यू में कहा कि बगदादी ने कभी इस बारे में खुलकर तो नहीं बताया लेकिन, अमेरिकी जेल में उसका यौन शोषण होता था। इतना ही नहीं उसकी जमकर मारपीट की जाती थी। उसे तरह-तरह की यातनाएं दी जाती थी। बीबीसी के मुताबिक, जब इस बारे में पेंटागन से जानकारी ली गई तो उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया।

लड़कियों को सेक्स स्लेव बनाने के आरोप
उम्म हुजैफा पर भी बगदादी का हर गुनाह में साथ देने और लड़कियों को सेक्स स्लेव बनाने के आरोप लगे हैं। रिपोर्ट के अनुसार, बगदादी और उसके आईएसआईएस आतंकियों पर लड़कियों का अपहरण करने और उन्हें सेक्स स्लेव के रूप में बेचे जाने के गंभीर आरोप हैं। हुजैफा पर भी इस काम में बगदादी का साथ देने का आरोप है। उसने इंटरव्यू में कहा कि अमेरिकी जेल में रहने के बाद वह काफी बदल गया था और हो सकता है कि उसने तब ऐसा किया हो। हुजैफा का कहना है कि वह खुद बगदादी के जुल्मों से पीड़ित थी और जानती थी कि वह अपराध कर रहा है लेकिन, उस वक्त लाचारी के कारण वह भी कुछ नहीं कर पा रही थी।

 

Back to top button