मध्य प्रदेश

एएनएम भर्ती परीक्षा के नियमों में तुरंत संशोधन करे सरकार : कमलनाथ

पूर्व सीएम बोले- 7000 संविदा स्वास्थ्य कर्मी एएनएम बहनों का भविष्य दांव पर

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री एवं पीसीसी चीफ कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से एएनएम भर्ती परीक्षा के नियमों में तुरंत संशोधन करने की मांग की है।

मप्र कांग्रेस कमेटी के कमलनाथ ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को संबोधित ट्वीट में उल्लेख किया है कि मध्यप्रदेश सरकार को एएनएम की भर्ती परीक्षा के नियमों में अविलंब संशोधन जारी करना चाहिए। भर्ती परीक्षा का जो विज्ञापन जारी किया है। उसके कारण मध्य प्रदेश की 7000 संविदा स्वास्थ्य कर्मी एएनएम बहनों का भविष्य दांव पर है। वे अपनी न्यायपूर्ण मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, यह वही एएनएम बहने हैं जिन्हें आपने कोरोना योद्धा बताया था। यह संविदा स्वास्थ्य एएनएम बहनें पिछले 10 से 15 वर्ष से मध्य प्रदेश की जन स्वास्थ्य व्यवस्था का अभिन्न अंग है। एक तरफा भर्ती नियमों के कारण इनकी रोजी-रोटी पर संकट आ गया है। मेरी, छिंदवाड़ा की एएनएम बहनों से इस संबंध में मुलाकात हुई थी और वे न्यायालय की शरण में गई थी। इस संबंध में उच्च न्यायालय के निर्देश पर छिंदवाड़ा की एएनएम बहनों को परीक्षा की अनुमति दी गई है। सरकार न्यायालय के इस आदेश को प्रदेश की सभी एएनएम बहनों पर लागू करते हुए भर्ती विज्ञापन में संशोधन करे, ताकि सभी एएनएम बहनों को नियमित पदों में परीक्षा देने का मौका मिल सके।


Back to top button