लखनऊ/उत्तरप्रदेश

पुलिस ने गवाह को थाने में रातभर भूखा-प्यासा रखा, सुबह हो गई मौत

  एटा

एटा (Etah) में सनसनीखेज मामला सामने आया है. यहां रात को थाने में मारपीट की शिकायत दर्ज कराने एक युवक पहुंचा था. वादी के साथ घटना का गवाह भी पहुंचा था, जिसे पुलिस ने पूरी रात भूखा प्यासा रखा. इसके बाद सुबह उसकी मौत हो गई. युवक की मौत से हड़कंप मच गया. आनन फानन में शव को मेडिकल कॉलेज की मॉर्च्युरी भेजा गया है. एसएसपी एटा ने प्राथमिक जांच के बाद थाने के इंचार्ज और एक कॉन्स्टेबल को सस्पेंड कर दिया है. मामले की जांच की जा रही है.

जानकारी के अनुसार, शहर में देवेंद्र और हुसैन नाम के दो दोस्तों के बीच रुपयों के लेनदेन को लेकर विवाद हो गया था. इस दौरान हुसैन ने देवेंद्र की नाक में घूंसा मार दिया. इसके बाद देवेंद्र ने डायल 100 कर पुलिस बुला ली. इसके बाद पुलिस आरोपी हुसैन और वादी देवेंद्र और देवेंद्र के मित्र राकेश को थाने ले गई. राकेश घटना का चश्मदीद गवाह था. वादी देवेंद्र और राकेश को रात में थाने में ही रोक लिया गया.

एसएसपी राजेश कुमार सिंह ने कहा कि कल दलसापुर गांव में हुसैन अली और देवेंद्र के बीच में पांच हजार रुपये के लेनदेन को लेकर विवाद हो गया. देवेंद्र ने ₹5000 रुपये हुसैन से मांगे तो उसने घूंसा मार दिया. उन्होंने कहा कि मामले की सूचना देवेंद्र ने पीआरवी को दी थी. सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और सभी को गवाह राकेश के साथ थाने ले आए थे.

थाने में देवेंद्र का मेडिकल भी हुआ था. रात होने के कारण गांव से कोई नहीं आ पाया था, जिसके कारण यह लोग जा नहीं पाए. इसीलिए ये थाने में ही लेट गए थे. सुबह राकेश को चक्कर आ गए, उसको तत्काल निधौली चक ले जाया गया, जहां से उसे रेफर कर दिया गया और उसकी मौत हो गई.

देवेंद्र का कहना है कि थाने में हमें खाना नहीं दिया गया था. इस कारण संभव है कि गर्मी की वजह से यह वाकया हुआ हो. हम लोग जांच कर रहे हैं और इसमें प्रथम दृष्टया थाना प्रभारी और कॉन्स्टेबल को जो उस समय ड्यूटी पर थे, सस्पेंड कर दिया गया है. और जो भी लोग दोषी पाए जाएंगे, उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी.

Back to top button