देश

पिछले 5 सालों से जानबूझकर युवाओं की नियुक्ति में बाधा डालना कांग्रेस, जेएमएम सरकार की संस्कृति बन गई: बाबूलाल मरांडी

रांची
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सोरेन पर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन के संरक्षण में JSSC-CGL परीक्षा के क्वेश्चन पेपर लीक हुए थे। बाबूलाल मरांडी ने कहा कि पिछले 5 सालों से जानबूझकर युवाओं की नियुक्ति में बाधा डालना कांग्रेस, जेएमएम सरकार की संस्कृति बन गई है। इससे राज्य में बेरोजगारी बढ़ी है और युवा वर्ग में आक्रोश व्याप्त है। मरांडी ने कहा, नौकरी के लिए कोर्ट-कचहरी से लेकर सड़क पर आंदोलन करते-करते राज्य के लाखों परीक्षार्थी हताश और निराश हो चुके हैं। बाबूलाल मरांडी ने आरोप लगाया कि इंडिया ठगबंधन की सरकार ने दिखावे का नियुक्ति कैलेंडर जारी कर युवाओं को फिर से धोखा ही दिया है। सरकार, युवाओं की मांग पर संज्ञान लेकर यथाशीघ्र अगस्त माह में ही JSSC-CGL की परीक्षा पारदर्शी ढंग से आयोजित करे।

बता दें कि झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (JSSC) ने सामान्य स्नातक योग्यताधारी संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा (JSSC CGL) 2023 का एक पेपर रद्द कर दिया था। जेएसएससी की ओर से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार 28 जनवरी 2024 को तीसरी पाली में हुई सामान्य ज्ञान की परीक्षा पेपर लीक होन के चलते रद्द कर दी गई थी। जेएसएससी सीजीएल परीक्षा 2023 का पेपर लीक होने के मामले में झारखंड विधानसभा के अवर सचिव को गिरफ्तार किया गया है। मामले में कई मोबाइल प्लेन चेक और प्रतियोगी छात्रों के प्रवेश पत्र भी मिले।
 

 

Back to top button