नई दिल्ली

सारी राष्ट्रविरोधी ताकतें हमारे खिलाफ साजिश कर रहीं, सिसोदिया के घर CBI रेड को लेकर बरसे AK ….

नई दिल्ली । केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर सीबीआई छापेमारी को लेकर कहा कि आज जहां दुनियाभर में मनीष सिसोदिया और दिल्ली के शिक्षा मॉडल की चर्चा हो रही है वहीं, सारी राष्ट्रविरोधी ताकतें हमारे खिलाफ साजिश कर रही हैं, लेकिन वो अपने मकसद में कभी कामयाब नहीं होंगी।

केजरीवाल ने कहा कि इन (नरेंद्र मोदी) लोगों ने मिलकर साजिश की है कि कैसे दिल्ली की सरकार गिराई जाए। सारी राष्ट्र विरोधी ताकतें हमारे खिलाफ साथ आ गई हैं। इन लोगों ने मनीष सिसोदिया पर झूठा आरोप लगाया है। यह एक सीरियल किलर की तरह काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मनीष सिसोदिया के घर 14 घंटे तक सीबीआई की छापेमारी चलती रही, लेकिन एक रुपया भी नहीं मिला। कोई गहना नहीं मिला, कोई नकदी नहीं मिली, किसी भी भूमि या संपत्ति का कोई दस्तावेज नहीं मिला और कोई आपत्तिजनक दस्तावेज नहीं मिला – कुछ भी नहीं मिला। यह एक झूठी छापेमारी थी।

केजरीवाल ने कहा कि भाजपा (नरेंद्र मोदी) पर आरोप लगाते हुए कहा कि कुछ सालों में 277 विधायकों को ये (BJP) खरीद चुकें हैं। दिल्ली में 20 करोड़ का रेट था। अगर 20 करोड़ में 1 विधायक खरीदा है तो 277 विधायकों पर 5,500 करोड़ रुपये खर्च किए। दिल्ली के लिए 800 करोड़ रखे हैं, ये पैसा कहां से आया?

उन्होंने अब तक देश में कई सरकारों को गिराया है – गोवा, कर्नाटक, महाराष्ट्र, असम, एमपी, बिहार, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर और मेघालय की सरकारों को ये गिरा चुके हैं। यह एक सीरियल किलर की तरह काम कर रहे हैं। लोग एक सरकार चुनते हैं, वो उसे गिरा देते हैं।

इससे पहले, दिल्ली विधानसभा की उपाध्यक्ष राखी बिड़ला ने शुक्रवार को भाजपा (नरेंद्र मोदी) के विधायक अजय महावर द्वारा सदन की कार्यवाही का वीडियो रिकॉर्ड किए जाने को लेकर उनकी पार्टी के विधायकों को विशेष सत्र के पूरे दिन के लिए मार्शल की मदद से बाहर निकाल दिया।

बिड़ला ने महावर से पूछा कि क्या उन्होंने कानून के खिलाफ जाकर विधानसभा की कार्यवाही का वीडियो रिकॉर्ड किया है? उन्होंने कहा कि क्या आपने वीडियो रिकॉर्ड किया है? यदि आपने ऐसा किया है, तो आपका फोन जब्त क्यों नहीं किया जाना चाहिए? यह सदन के कानून के खिलाफ है।

महावर और उनकी पार्टी के विधायकों ने बिड़ला के प्रश्नों का उत्तर नहीं दिया। इस मुद्दे पर ‘आप’ और भाजपा (नरेंद्र मोदी) विधायकों के बीच वाकयुद्ध छिड़ गया। इसके बाद बिड़ला ने कहा कि भाजपा विधायकों ने सदन का समय व्यर्थ किया है। उन्होंने उन्हें (भाजपा विधायकों को) मार्शल की मदद से सदन से बाहर निकाल दिया।

Related Articles

Back to top button