Breaking News
.

देखें VIDEO : अयोध्या में जलेगी 9.51 लाख दीप, पुष्पक विमान से आएंगे भगवान राम…

लखनऊ। राम की नगरी अयोध्या में पांचवा दीपोत्सव आज बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा। दीपोत्सव के इस कार्यक्रम में 9. 51 लाख दीप जलाकर एक नया रिकॉर्ड भी बनाया जाएगा। सरयू नदी के किनारे राम की पैडी से जुड़े 32 घाटों पर यह दीप प्रज्जवलित की जाएगी।  दोपहर में भगवान राम पुष्पक विमान से अयोध्या पहुंचेंगे। राम राज्याभिषेक होगा और राम की पैड़ी पर दीप जगमगाएंगे। इससे पहले सुबह श्रीराम के अयोध्या आगमन को प्रतीकात्मक रूप में दर्शाते हुए भव्य शोभा यात्रा निकली।

11 रथों वाली शोभायात्रा निकली, झूमते-नाचते नजर आए लोग

अयोध्या नगरी में भव्य झांकी यात्रा निकाली गई। झांकी में 11 रथ शामिल रहे। रथों पर भगवान राम के जीवन से जुड़े 11 प्रसंग दिखे और कलाकार मंचन करते नजर आए। इस यात्रा को डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। झांकियों की शोभायात्रा साकेत पीजी कॉलेज से निकलकर नयाघाट तक जाएगी। झांकी में लोक कला के कई रंग देखने को मिले। नाचते-गाते हुए भक्तों ने प्रभु राम का स्वागत किया। इस झांकी को देखने के लिए तमाम श्रद्धालु भी अयोध्या पहुंचे हैं।

प्रत्येक घाट पर 4 प्रतिशत दीप बढ़े, 32 पर्यवेक्षक की जिम्मेदारी

अवध विश्वविद्यालय के टीचर अंकुर तिवारी का कहना है कि 9 लाख दीयों को जलाने के लिए करीब 36 हजार लीटर तेल की आवश्यकता होगी और उतना तेल इन दीयों में डाला जाएगा। करीब 12 हजार वॉलंटियर इस बार दीप जलाने में लगे है।

अवध विश्वविद्यालय के छात्र कीर्तिधर द्विवेदी ने बताया कि, 20 से 25 समाजसेवी संगठन से जुड़े लोग, 15 महाविद्यालय और मुख्य रुप से अवध विश्वविद्यालय के सभी विभाग के छात्र और प्रोफेसर की ड्यूटी लगाई गई है। बीते साल 8 हजार थे इस बार 12 हजार वॉलंटियर हैं। 32 पर्यवेक्षक को प्रत्येक घाट पर जिम्मेदारी दी गई है। ऐसे ही 50 वॉलंटियर पर एक समन्यवक प्रत्येक घाट पर रखे गए हैं। दीपक जलाने के लिए रुई के ऊपर कपूर लगाया जाएगा। कीर्तिधर द्विवेदी बताते है कि, प्रत्येक घाट पर तैनात एक वालंटियर 75 से 100 दीप जलाएगा और एक नया कीर्तिमान बन जाएगा।

घाट पर बने राम के जीवन से जुड़े रंगोली के चित्र

राम की पैड़ी पर मिट्‌टी के दीप सजा दिए गए हैं। बुधवार को प्रत्येक दीप में तेल और बाती लगाई जाएगी। घाट पर अवध विश्विवद्यालय की फाइन आर्ट के छात्रों ने राम के जीवन से जुड़ी कलाकृतियों को रंगोली से बनाया।

दीपोत्सव में आज फिर बनेगा रिकॉर्ड

5 दिवसीय दीपोत्सव 2021 का मुख्य आयोजन आज है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने वर्ष 2017 में पहली बार दीपोत्सव का आयोजन किया था। दीपोत्सव की शुरुआत 51 हजार दीयों से हुई थी। वर्ष 2019 में 4,04,226 मिट्टी के दीयों, वर्ष 2020 में 6,06,569 मिट्टी के दीयों को सरयू के तट पर अपना ही रिकॉर्ड टूटा था। इस बार सीएम योगी आदत्यिनाथ ने पहले ही घोषणा की थी कि अयोध्या में इस बार के दीपोत्सव में 12 लाख मिट्टी के दीये जलाए जाएंगे।

दीपोत्सव में आज का ये कार्यक्रम

  • रामायण कार्निवाल पर आधारित झांकी
  • भगवान श्रीराम सीता का हेलीकाप्टर से आगमन
  • रामायण चित्र प्रदर्शनी का उद्घाटन
  • श्रीराम का राज्याभिषेक
  • 12 हजार करोड़ की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास
  • सीएम योगी आदित्यनाथ का भाषण
  • सरयू आरती
  • राम की पैड़ी पर दीपोत्सव की शुरूआत
  • राम की पैड़ी पर आतिशबाजी और लेजर शो
  • श्रीलंका के सांस्कृतिक दल द्वारा रामलीला मंचन
error: Content is protected !!