Breaking News
.

पानी के टैंकर में 60 लाख का गांजा तस्करी करते उत्तर प्रदेश के दो तस्कर कवर्धा में गिरफ्तार ….

कवर्धा । उत्तर प्रदेश के अपराधिक तत्व आए दिन छत्तीसगढ़ में पकड़े जा रहे हैं। वे छत्तीसगढ़ की आबो-हवा  को न सिफ खराब कर रहे हैं बल्कि नव युवकों को नशे के दलदल में भी ढकेल रहे हैं। ताजा मामले में पुलिस ने पीने के पानी का टैंकर का इस्तेमाल नशे के लिए करते हुए उत्तर प्रदेश के अपराधियों को पकड़ है। पकड़े गए आरोपी ओडिशा से गांजा लेकर छत्तीसगढ़ के रास्ते उत्तर प्रदेश जा रहे थे।

कवर्धा जिले की चिल्फी पुलिस ने पानी के टैंकर में गांजा छिपाकर यूपी ले जा रहे दो तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। पुलिस ने आरोपियों से 3 क्विंटल से अधिक गांजा जब्त किया है, जिसकी अनुमानित कीमत 60 लाख रुपए बताई है। तस्करों ने इस बार पुलिस को चकमा देने नया पैतरा अपनाया था। आरोपी टैंकर के अंदर लोहे की चादर से खंड बनाकर तस्करी कर रहे थे, लेकिन पुलिस को चकमा नहीं दे पाए। छत्तीसगढ़ में ट्रैक्टर से गांजा तस्करी का यह संभवत: पहला मामला है।

कवर्धा पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उमेद सिंह ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि रायपुर-जबलपुर नेशनल हाईवे पर रायपुर की ओर से आ रहे एक ट्रैक्टर टैंकर में बैठे लोगों की गतिविधियां संदिग्ध है। सूचना पर छत्तीसगढ़-मध्य प्रदेश बार्डर स्थित चिल्फी थाना प्रभारी को जांच के लिए निर्देशित किया गया। संदिग्ध ट्रैक्टर को रुकवाया गया और उसमें बैठे दिनेश बढ़ई (27) ग्राम इमलिया जिला झांसी (उत्तर प्रदेश) और नंदराम बढ़ई (25) ग्राम चंदोली, जिला झांसी (उत्तर प्रदेश) से पूछताछ की गई। गोलमोल जवाब देने पर ट्रैक्टर में लगे पानी टैंकर की तलाशी लेने पर 3 क्विंटल 1 किलो गांजा जब्त किया गया। आरोपियों ने बताया कि गांजे को उत्तर प्रदेश के झांसी ले जा रहे थे। जब्त गांजा की कीमत 60.26 लाख रुपए आंकी गई है।

चिल्फी थाना के प्रभारी बृजेश सिन्हा ने बताया कि पानी टैंकर के भीतर गुप्त चैंबर बना हुआ था। टैंकर के भीतर लोहे की चादर से वेल्डिंग कर पार्टीशन बनाया गया था। इसके एक तरफ गांजा छिपाया था और दूसरी तरफ खाली था। डंडे से जब टैंकर को ठोककर देखा गया, तब पुलिस को संदेह हुआ। पुलिस ने पार्टीशन को तोड़ा तब टैंकर के अंदर से गांजा निकला। ट्रैक्टर व गांजा को जब्त किया गया है। आरोपियों पर अपराध पंजीबद्ध कर न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है। बता दें कि आरोपी कई जिलों के थानों को पार कर छत्तीसगढ़-मध्य प्रदेश की सीमा तक पहुंच चुके थे।

error: Content is protected !!