Breaking News
.

कांग्रेस जिला सचिव के घर हथियार लेकर घुसे हेलमेट लगाए बदमाश, महिलाओं को बंधक बनाया, नकदी,गहने ले भागे …

बिलासपुर । जिला कांग्रेस जिला सचिव के घर गुरुवार को दिनदहाड़े डकैती हो गई। हथियार लेकर घर में घुसे नकाबपोश बदमाशों ने महिलाओं को बंदूक दिखाकर बंधक बना लिया और अलमारी तोड़कर उसमें रखे गहने-नकदी लेकर भाग निकले। सूचना मिलने पर IG रतनलाल डांगी और SP पारुल माथुर के साथ ही स्थानीय थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई है। मामले की जांच की जा रही है। लूटी गई रकम में ढाई लाख कैश और 5 लाख के गहने बताए जा रहे हैं। मामला शहर से लगे हुए मस्तूरी क्षेत्र का है।

दर्रीघाट निवासी टाकेश्वर पाटले कांग्रेस के जिला सचिव हैं। घटना गुरुवार सुबह करीब 11 बजे की बताई जा रही है। घटना के समय टाकेश्वर घर में नहीं थे। उसी समय 8-9 की संख्या में हेलमेट व मास्क लगाए बदमाश पहुंचे और बंदूक दिखाकर महिलाओं को धमकाने लगे। डकैतों ने महिलाओं से अलमारी की चाबी मांगी, लेकिन उन्होंने नहीं बताया। इस पर डकैतों ने सब्बल से अलमारी तोड़ दी और उसमें रखे गहने और नगदी लेकर भाग गए। उनके जाने के बाद वारदात की सूचना टाकेश्वर को दी गई।

इस घटना की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को भी दी गई। कंट्रोल रूम ने सभी थानों में नाकेबंदी के लिए पाइंट दिया है। डकैती की सूचना मिलते ही पुलिस अफसर व थानेदार हरकत में आ गए। शहर के साथ ही आउटर में सघन नाकेबंदी की जा रही है। पुलिस यह पता लगा रही है कि डकैत किस वाहन से आए थे और किधर से भागे हैं।

पुलिस ने आसपास लगे CCTV फुटेज को खंगालना शुरू कर दिया है। जांच के दौरान दर्रीघाट के पंजाब एंड सिंध बैंक में लगे CCTV कैमरे में तीन बाइक पर सवार 7 संदेही युवक फुटेज में दिखाई दे रहे हैं। इसी आधार पर पुलिस डकैती की घटना को अंजाम देने वाले युवकों की तलाश कर रही है। इसके साथ ही साइबर सेल की टीम भी तकनीकी साक्ष्य जुटाकर जांच में जुटी हुई है।

पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि कांग्रेस नेता ताकेश्वर पाटले जमीन कारोबारी भी हैं। उससे पूछताछ के आधार पर शक है कि आपसी विवाद और लेनदेन के चलते वारदात को अंजाम दिया गया होगा। लिहाजा, पुलिस इस दिशा में भी जांच कर रही है।

पुलिस की जांच व पूछताछ में पता चला है कि पचपेड़ी निवासी नितेश नायक उर्फ छोटू कांग्रेस नेता के यहां वाहन चालक है। वारदात के समय वह ट्यूशन पढ़ने के लिए गए बच्चों को लेने गया था। वह जैसे ही घर से निकला, तभी डकैत घर में घुस गए। डकैत जब घर के अंदर थे, तभी वह वापस आया। इस दौरान हथियारों से लैस युवकों ने उसके साथ मारपीट की और उसे भी कमरे में बंद कर दिया। उससे पुलिस सघन पूछताछ कर रही है। पुलिस को ड्राइवर की भूमिका अभी संदिग्ध लग रही है।

error: Content is protected !!