Breaking News
.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज स्वामी आत्मानन्द शासकीय उत्कृष्ट हिंदी माध्यम बालक किया शुभारंभ…

रायपुर। कक्षा बारहवीं की छात्रों ने करमा गीत गाकर एवं नृत्य से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का स्वागत किया।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज स्वामी आत्मानन्द शासकीय उत्कृष्ट हिंदी माध्यम बालक उ.मा विद्यालय, जशपुर का फीता काटकर शुभारंभ किया। कक्षा बारहवीं की छात्रों ने करमा गीत गाकर एवं नृत्य से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का स्वागत किया।

कक्षा बारहवीं की छात्रों ने करमा गीत गाकर एवं नृत्य से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का स्वागत किया।यहां कक्षा 6 वी से 12वी तक कक्षाएँ संचालित हैं, यहां 955 विद्यार्थी अध्धयन कर रहे हैं। इस वर्ष से इन विद्यर्थियों को आत्मानन्द स्कूल का लाभ मिलेगा।

स्वामी आत्मानंद विद्यालय जशपुर के अवलोकन के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सबसे सुंदर स्कूल में एक है यहां का स्कूल। जिला प्रशासन को बधाई। पुराना वैभव लौट आया है।स्वामी आत्मानंद विद्यालय जशपुर के अवलोकन के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सबसे सुंदर स्कूल में एक है यहां का स्कूल। जिला प्रशासन को बधाई। पुराना वैभव लौट आया है।

सभी जिलों में एक- एक हिन्दी उत्कृष्ट विद्यालय स्कूल खोलेंगे, मुझे यहां आकर अपने स्कूल की याद आ गई। स्कूल को देखकर मुझे मेरी पुरानीसभी जिलों में एक- एक हिन्दी उत्कृष्ट विद्यालय स्कूल खोलेंगे, मुझे यहां आकर अपने स्कूल की याद आ गई। स्कूल को देखकर मुझे मेरी पुरानी स्कूल की याद आ गई। उसकी खूबसूरती आज भी खोजता हूं। अब भी वहां जाता हूं तो पुराने बिल्डिंग को खोजता है।यह पहला स्कूल है जहाँ स्विमिंग पूल है। उन्होंने कहा कि जशपुर की पहचान शिक्षा में हो। बच्चों से कहा उन्होंने कि ध्यान से पढ़ाई करें। माता पिता का नाम रोशन करें। राज्य का नाम रोशन करें।

उन्होंने कहा कि जशपुर की पहचान शिक्षा में हो। बच्चों से कहा उन्होंने कि ध्यान से पढ़ाई करें। माता पिता का नाम रोशन करें। यहां छात्र दीपरत्न रामटेके ने मुख्यमंत्री को उनकी माता के साथ की खुद की बनाई हुई स्केच भेंट की।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विजिटर बुक में लिखा के ब्रिटिश शासन काल  सन 1934 में निर्मित यह स्कूल धीरे-धीरे अपना वैभव खो रहा था या यह कहें कि जीर्ण शीर्ण हो रहा था, लेकिन स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट हिंदी माध्यम स्कूल बनने के पश्चात इसका पुराना वैभव लौट आया है, सबको बधाई।यहां मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का स्वागत बच्चों ने मनमोहक गीत एवं नृत्य के साथ किया।

बच्चों के आग्रह पर मुख्यमंत्री भी उनके साथ अपने अंदाज में झूमे।छात्राओं ने बच्चों के आग्रह पर मुख्यमंत्री भी उनके साथ अपने अंदाज में झूमे।छात्राओं ने यहां मुख्यमंत्री के समक्ष “छतीसगढ़ के चार चिन्हारी

यहां मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का स्वागत बच्चों ने मनमोहक गीत एवं नृत्य के साथ किया। बच्चों के आग्रह पर मुख्यमंत्री भी उनके साथ अपने अंदाज में झूमे।छात्राओं ने यहां मुख्यमंत्री के समक्ष “छतीसगढ़ के चार चिन्हारी नरवा, घुरवा गरवा, बाड़ी” गीत गाया।

प्रदेश व्यापी भेंट मुलाकात कार्यक्रम में पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां जशपुर में स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट हिंदी माध्यम उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का शुभारंभ किया । स्कूल परिसर को देखकर मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्रिटिश शासन काल में सन 1932  में निर्मित यह स्कूल अपना वैभव खो रहा था ,जीर्ण शीर्ण हो रहा था लेकिन आत्मानंद स्कूल खुलने के पश्चात स्कूल अपने पुराने  वैभव पर लौट आया है  ।

ज्ञात है कि शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जशपुर को स्वामी आत्मानंद स्कूल में तब्दील किया गया है। यहां 955 छात्र छात्राएं अध्ययन कर रहे हैं जिसके सीधा लाभ इन बच्चों को मिलेगा। मुख्यमंत्री ने स्कूल निरीक्षण के पश्चात कहा कि यह प्रदेश के सर्वश्रेष्ठ व सबसे सुंदर स्कूलों में से एक है ।उन्होंने यहां की अधोसंरचना और सुविधाओं  की सराहना करते हुए कहा कि अब यहां बास्केटबॉल मैदान ,स्विमिंग पूल, सुसज्जित लैब सहित सभी सुविधाएं मौजूद है ।मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि संभवत यहां प्रदेश का पहला स्कूल है जहां स्विमिंग पूल की सुविधा है। मुख्यमंत्री ने बच्चों के साथ यहां तस्वीर भी ली।

छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी नरवा गरवा घुरवा बाड़ी गाना के बोल पर बच्चों द्वारा नृत्य किया जा रहा था ।बच्चों के आग्रह पर मुख्यमंत्री खुद को नहीं रोक पाए और वह भी इस गाना पर थिरकने लगे ।

error: Content is protected !!