Breaking News
.

स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ कोर्ट की कार्रवाई, गिरफ्तारी वारंट जारी, 7 साल से चल रहा केस भाजपा से इस्तीफे के बाद फिर खुला …

लखनऊ। यूपी सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने के मामले में कोर्ट ने कार्रवाई की है। कोर्ट ने मौर्य के खिलाफ पहले से जारी गिरफ्तारी वारंट को जारी रखने का आदेश दिया है। सुर्खियों में चल रहे यूपी सरकार के पूर्व कैबिनेट मिनिस्टर स्वामी प्रसाद मौर्य की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं। मौर्य के खिलाफ कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। स्वामी प्रसाद मौर्य पर धार्मिक भावनाएं भड़काने के मामले में कोर्ट ने यह कार्रवाई की है।

बता दें कि यह मामला सात साल पुराना है। तब स्वामी प्रसाद मौर्य ने कथित रूप से बसपा में रहते हुए देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। वे जब तक भाजपा में रहे कोई मामला रहा ही नहीं। जैसे ही उन्होंने भाजपा छोड़ी इस मामले में उन्हें सुल्तानपुर की कोर्ट में पेश होने बुलाया गया।

बीती 6 जनवरी को इस मामले में कोर्ट ने उन्हें आज (12 जनवरी) को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया था। स्वामी प्रसाद के कोर्ट में पेश न होने पर उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट आगे जारी रखने का आदेश दिया गया है.

बताते चलें कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने मंगलवार को योगी मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था। यूपी चुनाव से ठीक पहले उनके इस कदम ने राज्य की सियासत को नई हवा दे दी है। उन्होंने अपना त्यागपत्र ट्वीट करते हुए लिखा, ‘ये दलितों, पिछड़ों, किसानों, बेरोजगार नौजवानों एवं छोटे-लघु एवं मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के कारण उत्तर प्रदेश के योगी मंत्रिमंडल से इस्तीफा देता हूं।’

error: Content is protected !!