Breaking News
.

सीनेटर ने पूछा – काबुल हमले में मारा गया व्यक्ति आतंकी था या एड वर्कर, फॉरेन सेक्रेटरी ने कहा, मुझे पता नहीं…

वॉशिगटन। 26 अगस्त को काबुल के हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हुए हमले में 170 लोग मारे गए थे। अमेरिका का दावा था एक फिदायीन हमले को नाकाम किया गया था। इस हमले पर अमेरिकी विदेशी मंत्री एंटनी  ब्लिंकन जवाब नहीं दे पा रहे है। सीनेट में सुनवाई के दौरान सीनेटर रैंड पॉल ने ब्लिंकन से पूछा- काबुल हमले में मारा गया व्यक्ति  आतंकी था या एड वर्कर? फॉरेन सेक्रेटरी का जवाब था- हमले की समीक्षा कर रहे हैं। फिलहाल, मुझे इस बारे में जानकारी नहीं है। इसके बाद पॉल ने बाइडेन एडमिनिस्ट्रेशन के फॉरेन सेक्रेटरी को कड़ी फटकार लगाई।

 

सीनेटर पॉल ने ब्लिंकन से पूछा- काबुल ड्रोन स्ट्राइक में मारा गया व्यक्ति आईएसआईएस-के का आतंकी था या सहायताकर्मी? जवाब मिला- बाइडेन एडमिनिस्ट्रेशन इसकी समीक्षा कर रही है। फिलहाल, कुछ नहीं कह सकता। पॉल ने फिर पूछा- जो बात हमले के पहले सोची जानी चाहिए थी, वो अब क्यों सोच रहे हैं? इस पर ब्लिंकन चुप हो गए। पॉल केंटुकी से रिपब्लिकन पार्टी के सीनेटर हैं। ब्लिंकन से खफा पॉल ने कहा- आप कुछ जानते नहीं हैं, या हमें बताना नहीं चाहते। क्या ये पता करना जरूरी नहीं था कि आप जिसे प्रिडेटर ड्रोन से निशाना बनाने जा रहे हैं वो आतंकी है या एड वर्कर।

 

सीनेटर ने टॉप डिप्लोमैट से आगे कहा- इस तरह के हमले का उल्टा असर भी हो सकता है। अगर आप बेकसूर लोगों को मारेंगे तो इससे ज्यादा लोग आतंकवादी बनेंगे। मैं नहीं जानता कि सच क्या है, लेकिन खूबसूरत और मासूम बच्चे कैसे मारे गए? लेकिन, अगर निर्दोष लोग और बच्चे मारे गए हैं तो यकीन जानिए आप हजारों लोगों को आतंकी बनाने का रास्ता खोल रहे हैं। हमले के बाद जांच क्यों कर रहे हैं? ये काम पहले क्यों नहीं किया गया?

डोनाल्ड ट्रम्प की पार्टी के सीनेटर पॉल यहीं नहीं रुके। उन्होंने ब्लिंकन की जमकर क्लास ली। पूछा- बगराम एयरबेस खाली करने की प्लानिंग कैसे तैयार की गई? ब्लैक हॉक हेलिकॉप्टर, बख्तरबंद गाड़ियां तालिबान के हाथ कैसे लगीं? आज उनके पास 80 बिलियन डॉलर के हथियार हैं। तीन लाख से ज्यादा ऑटोमैटिक वेपन्स हैं। आपको क्या लगता है, हम सहायता भेजते रहेंगे और वो इसका गलत फायदा नहीं उठाएंगे। इससे बेहतर होता कि आप उस एयरबेस को ही उड़ा देते। इसमें बस 20 मिनट ज्यादा लगते। और आप खुद को ताकतवर बताते हैं।

error: Content is protected !!