Breaking News
.

बिजली गुल की शिकायतों को लेकर विधायक शैलेष पांडेय ने की अधिकारियों से चर्चा, कहा- तत्काल करें निराकरण …

बिलासपुर। विधायक शैलेष पांडेय ने बिलासपुर में बिजली गुल सहित विभाग से जुड़ी अन्य जनहित समस्याओं को लेकर छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी मर्यादित के अधिकारियों से विस्तारपूर्वक चर्चा की। विधायक ने संवेदनशीलता के साथ बिजली व्यवस्था बाधित होने की समस्याओं को और जनप्रतिनिधियों की शिकायतों को संज्ञान लेते हुए अधिकारियों से बैठक की।

विधायक निवास में हुई इस बैठक में कार्यपालक निदेशक भीम सिंह कंवर, अधीक्षण यंत्री (शहर) वायके मनहर, अधीक्षण यंत्री (ग्रामीण) एसके दुबे, कार्यपालन यंत्री (शहर) सुरेश जांगड़े, कार्यपालन यंत्री (ग्रामीण) अमर चौधरी, कार्यपालन यंत्री (शहर पूर्व) पी.वी.एस राजकुमार उपस्थित रहे। अधिकारियों ने बताया कि बिजली की कोई कमी नहीं है, लेकिन बारिश, आंधी, आकाशीय बिजली से नुकसान होने के कारण बिजली व्यवस्था बाधित होती है और सुधार में समय लगता है, फीडर फॉल्ट होने के कारण भी बिजली व्यवस्था बाधित होती है।

बिलासपुर के 1 लाख 25 हजार घरेलू एवं व्यवसायिक विद्युत उपभोक्ताओं को 4 सब स्टेशनों तिफरा, सिलपहरी, मोपका और बिरकोना से 3000 ट्रांसफार्मर के माध्यम से विद्युत आपूर्ति की जाती है। दिन प्रतिदिन उपभोक्ताओं के विद्युत भार वृद्धि से हो रहे विद्युत दबाव को दृष्टिगत रखते हुए बिलासपुर अंतर्गत विद्युत व्यवस्था को बेहतर एवं सुदृढ़ बनाए जाने हेतु 132 केव्ही विद्युत सब स्टेशन की स्थापना मंगला क्षेत्र में प्रस्तावित है।

नगर विधायक शैलेष पांडेय ने बताया कि बाधारहित विद्युत आपूर्ति का लक्ष्य है, शहर में बिजली उपभोक्ताओं की संख्या 1 लाख 25 हजार है बिलासपुर में 4 सब स्टेशन तिफरा, सिलपहरी, मोपका, और बिरकोना से सप्लाई की जाती है, ओव्हर लोड से ट्रिपिंग की समस्या बार-बार होती है, अलग सब स्टेशन से बीच शहर में बिजली सप्लाई करना बिजली विभाग के अधिकारियों के लिए भी परेशानी का कार्य होता है। ऐसी स्थिति को देखते हुए मंगला क्षेत्र में 7 एकड़ भूमि पर 132 केव्ही सब स्टेशन जल्द बनाया जाएगा, जिसके बाद शहर के लोगों को बिजली आपूर्ति में होने वाली की समस्या से निजात मिलेगी,

नगर विधायक की पहल पर 132 केव्ही सब स्टेशन बिलासपुर को मिला है, भूमि आवंटन के लिए जिला प्रशासन सहित विभागीय अधिकारियों से की चर्चा

विधायक शैलेष पाण्डेय ने बताया कि नए सब स्टेशन की मांग विधानसभा सत्र में किया गया था, साथ ही समस्या को गंभीरता से सरकार का ध्यान आकर्षण भी कराया गया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी से भी मिलकर मांग रखी गई थी, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने समस्या को गंभीरता से लेते हुए स्टेशन बनाने की अनुमति प्रदान कर दी थी, 22 करोड़ रुपये स्वीकृत हुए हैं। लेकिन जगह चयनित नही होने के कारण यह कार्य लंबित रहा, पहले सकरी में जगह का चयन किया गया था लेकिन आपत्ति होने के कारण जगह का आवंटन नहीं हो पाया है लेकिन अब मंगला में जगह का चिन्हांकन किया गया है।

जल्द ही विभागीय प्रक्रिया पूर्ण कर विद्युत सब स्टेशन निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। नये सब स्टेशन स्थापना के लिए विभागीय प्रक्रिया शीघ्र पूर्ण करने के लिए नगर विधायक शैलेष पांडेय ने जिला कलेक्टर, नगर निगम आयुक्त, बिलासपुर एसडीएम और विभागीय अधिकारियों को समन्वय के साथ कार्य करने के लिए निर्देशित किया है। ताकि कार्य शीघ्र प्रारंभ होकर पूर्ण हो सके और लोगों को बिजली गुल से होने वाली समस्या से निजात मिल सके।

error: Content is protected !!