Breaking News
.

सड़क पर उतरे महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्यानंद गिरी, गौ माता की दुर्दशा से दुखी होकर पीएम को खून से लिखा पत्र…

भोपाल/ग्वालियर। लोकसभा चुनाव के समय सुर्खियां बटोरने वाले महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्यानंद गिरी उर्फ मिर्ची बाबा ने अब पीएम मोदी को खत लिखा है। खत भी अपने खून से लिखा है। वे गौ माता की दुर्दशा से दुखी हैं। उन्हें बचाने के लिए वो ग्वालियर में सड़क पर उतर आए। मिर्ची बाबा ने गौभक्तों के साथ पदयात्रा निकाली और प्रधानमंत्री के नाम खून से लिखा पत्र तहसीलदार को सौंपा। मिर्ची बाबा की मांग है कि गाय को राष्ट्रीय गौ माता घोषित किया जाए और उनके भरण-पोषण के लिए हर रोज 50 रुपये दिए जाएं।

गौ माता करे पुकार…

मिर्ची बाबा ने मंगलवार को गोला का मंदिर स्थित गौशाला से तमाम गौभक्तों के साथ पदयात्रा शुरू की। पदयात्रा में गौभक्त हाथों में तख्तियां लेकर चल रहे थे, जिस पर लिखा था भूखी गाय करे पुकार मेरे भरण पोषण के लिए 50 रुपये रोज दे शिवराज सरकार। गौमाता को राष्ट्रीय गौमाता घोषित करे केंद्र सरकार। इस दौरान गौभक्त गाय की दुर्दशा को सुधारने के लिए जोरदार नारेबाज़ी कर रहे थे। शहर के विभिन्न मार्गों से होती हुई यह पदयात्रा फूलबाग चौराहे पर पहुंची।

गाय के भरण-पोषण के लिए रोज 50 रुपए प्रति गाय देने की मांग

फूलबाग चौराहे पर मिर्ची बाबा और अन्य गौभक्तों ने पहले अपना खून निकलवाया और उसके बाद खून से प्रधानमंत्री को संबोधित करते हुए पत्र लिखा। उसके बाद दो सूत्रीय मांग पत्र मिर्ची बाबा ने तहसीलदार को सौंपा। पत्र के माध्यम से मांग की गई है कि गाय को राष्ट्रीय गौमाता घोषित किया जाए और हर रोज भरण पोषण के लिए 50 रुपये प्रति गाय दिए जाएं। मिर्चीबाबा ने चेतावनी दी है अगर सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानीं तो भोपाल और दिल्ली तक गौभक्त पदयात्रा करेंगे। वहीं मिर्चीबाबा की पदयात्रा को लेकर बड़ी संख्या में जिला एवं पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी मय बल के साथ मौजूद थे।

error: Content is protected !!