Breaking News
.

अमेरिकी विदेश मंत्री की भारत यात्रा के दौरान पाक पर दबाव बनाने पर होगी चर्चा, इन मुद्दों पर भी होगी बात …

नई दिल्ली। अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन 27 जुलाई को भारत आ रहे हैं। इस दौरान उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात होगी। उनकी यह यात्रा कई मायनों में अहम है। अमेरिका के विदेश की यात्रा से जुड़े सूत्रों ने बताया है कि आतंकवाद के वित्त पोषण और सुरक्षित पनाहगाहों के लिए पाकिस्तान पर लगातार दबाव बनाने की जरूरत पर भी दोनों देशों के बीच बातचीत होगी। अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी के मुद्दे पर भी चर्चा की जाएगी। भारत स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अंतरराष्ट्रीय यात्रा को चरणबद्ध तरीके से बहाल करने की मांग करेगा।

उन्होंने यह भी बताया है कि रक्षा क्षेत्र में दोनों पक्ष सहयोग को प्रगाढ़ करने के तरीके तलाशेंगे। अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन की भारत यात्रा द्विपक्षीय सहयोग को और मजबूत करने का अवसर प्रदान करेगी। क्वाड सहयोग को और प्रगाढ़ करने पर चर्चा, बातचीत का एक प्रमुख विषय रहेगी।

ब्लिंकन की भारत यात्रा से जुड़े सूत्रों ने यह भी बताया कि दोनों पक्ष हिंद-प्रशांत से संबंधित कोविड सहयोग और सुरक्षा परिदृश्य पर केन्द्रित आकलन एक-दूसरे को देंग।

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के भारत दौरे से पहले संयुक्त राष्ट्र अमेरिका ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान को अपने द्विपक्षीय मुद्दों को हल करने के लिए एक-दूसरे के साथ काम करने की जरूरत है। अमेरिका ने यह भी कहा कि उसने दोनों पड़ोसियों को हमेशा आगे बढ़ने के लिए और अधिक स्थिर संबंध बनाने के लिए हमेशा प्रोत्साहित किया है। थॉम्पसन ने एक सवाल के जवाब में कहा कि हमें यह देखकर खुशी हो रही है कि इस साल की शुरुआत में दोनों देशों के बीच जो युद्धविराम लागू हुआ था, वह बरकरार है और हम निश्चित रूप से उन्हें हमेशा एक अधिक स्थिर संबंध बनाने के तरीके खोजने के अपने प्रयासों को जारी रखने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

error: Content is protected !!