Breaking News
.

गंगा नदी में बहती दिखीं दर्जनों अज्ञात लाशें, मचा कोहराम, 46 शवों को मशक्कत के बाद निकाला गया बाहर …

नई दिल्ली (पंकज यादव) । बिहार के बक्सर में गंगा नदी में दर्जनों लाशों के मिलने के बाद अब उससे सटे यूपी के गाजीपुर और बलिया में शव दिखाई दिये हैं। सोमवार को बक्सर में लाशें दिखाई देने के बाद आशंका जताई गई थी कि लाशें यूपी के जिलों से ही बहकर आ रही हैं। इसके बाद बलिया और गाजीपुर में प्रशासन ने गंगा घाट किनारे सतर्कता बढ़ाई तो लाशें बहती दिखाई दी। बलिया में 46 शवों को बाहर निकाला गया है। कोरोना पीड़ितों लाश होने की आशंका में लोगों में दहशत है। 

बलिया के उजियार घाट और भरौली पर बहकर आये दर्जनों शवों को पुलिस ने निकलवाया है। बताया जा रहा है कि उजियार में 40 से अधिक और भरौली में 6 शवों को पुलिस ने गंगा से बाहर निकलवाया है। पुलिस प्रशासन ने जेसीबी गड्ढा खोदवाकर सभी शवों को जमीन में गड़वाया है। बलिया के उजियार घाट के ठीक उस पार बिहार का बक्सर है।

इससे पहले गाजीपुर में गंगा में कुछ लाशें बहती हुई दिखीं। गाजीपुर की गंगा में लाशें दिखने के बाद डीएम एमपी सिंह ने कहा कि हमें गंगा में लाशों की जानकारी मिली। हमारे अधिकारी मौके पर मौजूद हैं और एक जांच चल रही है। हम यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि वे कहां से आए थे। इससे पहले बक्सर के डीएम अमन समीर ने कहा था कि यूपी की ओर से लाशें बहकर सीमा में आ गई है।

बक्सर के सदर एसडीओ ने वहां जाकर गाजीपुर के सेवराई के एसडीओ के साथ मिलकर घाट का निरीक्षण किया। घाट पर करीब 35-40 लाशों को देखा गया। इसके बाद डीएम ने बताया कि गाजीपुर की ओर से लाशें बहते हुए इधर घाट पर किनारे लग गई हैं। स्थानीय किसी की लाश होने की पुष्टि नहीं हो पा रही है। वहीं, सेवराई एसडीएम रमेश मौर्या का कहना है कि गाजीपुर की सीमा में गंगा के किनारे कोई शव नहीं मिला है। गंगा के किनारे के एक-दो शव होने की सूचना मिली थी। इसका पता लगाया जा रहा है।

error: Content is protected !!