Breaking News
.

सतना में 45 मिनट हवा में लटके रहे भक्त : मैहर में मां शारदा देवी मंदिर के त्रिकूट पर्वत पर रोपवे खराब, 100 से ज्यादा लोग फंसे…

सतना। जिले के मैहर स्थित और विश्व प्रसिद्ध मां शारदा के दरबार में हाजिरी लगाने को निकले देवी भक्त त्रिकूट पर्वत पर गंभीर संकट में फंस गए। सभी के हलक में सांसें अटक गईं। वे दिल थाम कर करीब पौन घंट हवा में लटके रहे। इस दौरान उनमें चीख-पुकार मच गई। हवा में झूल रही ट्रॉलियों में सवार यात्री बच्चों सहित अपनी बारी के इंतजार में श्रद्धालु भी प्यास के कारण तड़पते रहे।

दरअसल, मां शारदा के दर्शन के लिए त्रिकूट पर्वत पर लगाए गए रोपवे में तकनीकी खराबी आ गई और रोपवे चलते-चलते अचानक रुक गया। रोपवे जब रुका तब 30-32 ट्राली हवा में झूल रही थी। प्रत्येक ट्राली में चार दर्शनार्थी थे। यानी लगभग सवा सौ दर्शनार्थी करीब पौन घंटे तक हवा में लटके रहे। रोपवे की इन ट्रालियों में महिलाएं और बच्चे भी थे।

इसकी जानकारी जैसे ही लगी प्रशासनिक अधिकारियों के होश उड़ गए। आनन-फानन में इंजीनियरों को बुलाया गया। इंजीनियरों ने तकनीकी गड़बड़ी का पता लगना शुरू किया। करीब पौन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद इंजीनियरों ने गड़बड़ी दूर कर रोपवे को चलाया, तब जाकर लोगों की जान में जान आई। इस घटना के बाद मैहर एसडीएम धर्मेंद्र मिश्रा ने दामोदर रोपवे कंपनी के प्रबंधकों से बात कर श्रद्धालुओं की दिक्कत के मद्देनजर रोपवे टिकट का शुल्क वापस करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने घटना की जांच के निर्देश भी दिए। उन्होंने रोपवे प्रबंधन से जांच रिपोर्ट भी तलब की है। उन्होंने प्रबंधन को कहा है कि वो ध्यान रखें कि ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न हो।

बताया जा रहा है कि नवरात्र शुरू होने से ठीक पहले ही दामोदर रोपवे कंपनी ने तीन दिन तक रोपवे संचालन रोककर मरम्मत कराई थी, ताकि नवरात्र में देवी धाम आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह की दिक्कत न हो। लेकिन, नवरात्र समाप्त होने के बाद भी अभी श्रद्धालुओं की बड़ी तादाद मैहर में है। वे मंदिर भी जा रहे हैं। लोग चर्चा करते रहे कि जब 9-10 दिन पहले ही रोपवे की मरम्मत की गई थी तो अचानक फिर से रोपवे कैसे बंद हो गया। ऐसे में इसी दरम्यान रोपवे में आई गड़बड़ी को लेकर रोपवे कंपनी पर ही सवालिया निशान खड़ा होने लगा है।

आगामी आदेश तक रोपवे बंद

कलेक्टर अजय कटेसरिया ने मैहर शारदा देवी धाम का रोप वे बंद करने का आदेश दिया है। कलेक्टर ने रोप वे प्रबंधन को रोपवे का संचालन तब तक बंद रखने का आदेश दिया है, जब तक कि सिक्योरिटी ऑडिट कराकर एनओसी प्रस्तुत नहीं कर दी जाती। कलेक्टर ने बताया कि दर्शनार्थियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एसडीएम मैहर के माध्यम से रोपवे प्रबंधक को निर्देशित कर दिया गया है।

error: Content is protected !!