Breaking News
.

कांग्रेस नेता के घर डकैती मामले में इस नेता की जांच की मांग कर कांग्रेस सचिव ने कहा- मेरी हत्या की थी साजिश …

बिलासपुर । बिलासपुर जिला कांग्रेस सचिव के घर 13 जनवरी को हुई डकैती के मामले ने नया मोड़ ले लिया है। कांग्रेस सचिव टाकेश्वर पाटले ने कांग्रेस नेता अभय नारायण राय पर भी साजिश का आरोप लगाते हुए पुलिस अधीक्षक से मामले की जांच करने की मांग की है। उन्हें अंदेशा है कि यह डकैती उनकी हत्या करने के नियत से डाली गई थी।

एसपी को दिए ज्ञापन में कांग्रेस सचिव टाकेश्वर पाटले ने लिखा है कि इस मामले में अभय नारायण राय से भी पूछताछ की जानी चाहिए। उन्हें अंदेशा है कि यह डकैती उनकी हत्या करने के नियत से डाली गई थी। चूंकि वे उस दिन अड़भार आ गए थे इसलिए उनकी हत्या की साजिश सफल नहीं हो पाई।

इसकी तस्दीक खुद अभय नारायण राय के बात से होती है जो उन्होंने कांग्रेस नेता व कांग्रेस महामंत्री अर्जुन तिवारी से कही थी। टाकेश्वर पाटले के अनुसार अभय नारायण राय ने अर्जुन तिवारी को कहा था कि जिस दिन डकैती हुई थी उस दिन यदि वह घर में होता तो उसकी हत्या हो जाती।

दरअसल 13 जनवरी को मस्तूरी थानांतर्गत लिमतरा गांव के टाकेश्वर पाटले के घर डकैती की घटना हुई जिसमें डकैत उनके घर से 5 लाख नगद ले जाने में कामयाब भी हुए। पुलिस को अबतक इस मामले में कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। इधर अभय नारायण राय के ऊपर इस तरह के आरोप लगने के बाद कांग्रेस का अंदरूनी लड़ाई फिर सड़क पर आती दिख रही है।

जब इस मसले पर अभय नारायण राय से बात की गई तो उन्होंने कहा कि टाकेश्वर पाटले का आरोप समझ से परे है, मेरी राजनीतिक चरित्र हत्या का प्रयास है, मैं टाकेश्वर पाटले को विजय केशरवानी द्वारा जिला कांग्रेस कमेटी में सचिव बनाये जाने के बाद जाना हूँ, उसका किससे जमीन विवाद है, उसके घर किसने पथराव किया है ।

इस संबंध में मेरा किसी से कोई बातचीत नहीं हुई है, पुलिस प्रशासन से मैं मांग करूंगा कि उसके आवेदन की जांच की जावे, क्योंकि मेरे ऊपर लगाये गये आरोप मनगढंत है, तथ्यहीन है। मैं 40 वर्षों से सार्वजनिक जीवन में हूँ, छात्र राजनीति से लेकर वर्तमान कांग्रेस राजनीतिक तक। विभिन्न सामाजिक संगठनों में भी सक्रिय रहा, इस प्रकार की गतिविधियों से मेरा लेना-देना कभी भी नहीं रहा है। निश्चित रूप से टाकेश्वर पाटले एक मुहरा है, उसके पीछे मेरे खिलाफ राजनीतिक षड़यंत्र रचने वालों को चेहरा है, जो कि पुलिस जांच में सामने आ जायेगा।

error: Content is protected !!