Breaking News
.

कांग्रेसियों ने स्वन्त्रता सेनानी रवि शंकर शुक्ल और पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल को जयंती के अवसर पर किया याद …

बिलासपुर। वरिष्ठ कांग्रेसी सैय्यद जफर अली के संयोजन में सी पी एन्ड बरार और अविभाजित मध्यप्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री रविशंकर शुक्ल व छत्तीसगढ़ राज्य के प्रमुख स्वप्न दृष्टाओं में एक पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल की जयंती का कार्यक्रम कांग्रेस भवन में आयोजित किया गया।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए सैय्यद जफर अली, वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश तिवारी, कार्यक्रम के सभापति माधव चिन्तामन ओत्तलवार ने रविशंकर शुक्ल और विद्याचरण शुक्ल के मध्य भारत क्षेत्र में अद्वितीय योगदान को स्मरण करते हुए कहा कि भिलाई स्टील प्लांट से लेकर प्रदेश में बांधों, नहरों के निर्माण में महती भूमिका अदा की।

सेवानिवृत्त आई. ए. एस. एस. एल. रात्रे, कांग्रेस प्रवक्ता अनिल सिंह चौहान, ब्लॉक अध्यक्ष विनोद साहू, बृजेश साहू, शिल्पी तिवारी ने रविशंकर शुक्ल और विद्याचरण शुक्ल की जीवनी पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि आप दोनों  राजनीति के शिखर तक पहुंचे  फिर भी कभी भी जमीन के कार्यकर्ताओं और आम लोगों से दूर नहीं हुए। वक्ताओं ने पंडित रविशंकर शुक्ल के स्वतंत्रता संग्राम में भूमिका से लेकर शहीद विद्याचरण शुक्ल की झीरम नक्सल कांड में शहादत तक का विस्तार से वर्णन किया।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से विनोद शर्मा, त्रिभुवन कश्यप, विनय अग्रवाल, सुभाष ठाकुर, जहूर अली, विष्णु कौशल, राजेन्द्र शर्मा, पवन चंद्राकर, सालिक राम साहू, उत्तरा सक्सेना, अन्नपूर्णा ध्रुव, राजेन्द्र सारथी, अजय पंत, बाबा शहजादा आदि शामिल थे।

error: Content is protected !!