Breaking News
.

अविश्वास प्रस्ताव से पहले इमरान खान को बड़ा झटका, कैबिनेट मंत्री ने ही छोड़ दिया साथ, गिरकर रहेगी इमरान की सरकार …

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री व भारतीय टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा के शौहर इमरान खान को अविश्वास प्रस्ताव से ठीक एक दिन पहले करारा झटका लगा है। सरकार जाने के खतरे का सामना कर रहे इमरान खान के कैबिनेट मंत्री शाहजान बुग्ती ने इस्तीफा दे दिया है। वह बलूचिस्तान की जमूरी वतन पार्टी के नेता थे और इमरान खान की सरकार में कैबिनेट मंत्री थे।

जमूरी वतन पार्टी इमरान खान की तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी की गठबंधन सरकार में सहयोगी थी। इमरान खान के खिलाफ सोमवार को पाकिस्तान की संसद में प्रस्ताव पेश होने वाला है। यह प्रस्ताव शुक्रवार को ही पेश होना वाला था, लेकिन सदन की कार्यवाही स्थगित होने के चलते इसे सोमवार को पेश करने का फैसला लिया गया।

एक तरफ शाहजान बुग्ती ने इमरान खान का साथ छोड़ दिया है तो वहीं दूसरी तरफ वह पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट में शामिल हो गए हैं, जो इमरान खान का विरोध कर रहा है। शाहजान बुग्ती बलूचिस्तान मूवमेंट के बड़े नेता अकबर बुग्ती के पोते हैं। बलूचिस्तान मूवमेंट के चलते ही अकबर बुग्ती की पाकिस्तानी सेना ने 2006 में हत्या कर दी थी। शाहजान बुग्ती ने ऐसे समय में इमरान खान की कैबिनेट को छोड़ा है, जब वह इस्लामाबाद में एक बड़ी रैली करने वाले हैं। इस रैली को इमरान खान की ओर से शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देखा जा रहा है।

पाकिस्तान की संसद में कुल 342 सदस्य हैं। किसी भी दल को सरकार बनाने के लिए जरूरी है कि उसके पास 172 सांसदों का समर्थन हो। वहीं विपक्ष का दावा है कि इमरान खान के पास 150 ही सांसद हैं। एक तरफ विपक्ष की ओर से इमरान खान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश करने का फैसला लिया गया है तो वहीं इमरान खान अपने समर्थकों से नेशनल असेंबली के घेराव की बात कह रहे हैं। इमरान खान ने नया पाकिस्तान बनाने के दावे के साथ 2018 में सत्ता संभाली थी। हालांकि आर्थिक संकट और बेरोजगारी के चलते इमरान खान घिरे हुए हैं।

error: Content is protected !!