Breaking News
.

भाजपा के सभी संभागीय संगठन मंत्रियों की छुट्टी, कार्यसमिति सदस्य बनाए गए,  अब संगठन महामंत्री और सह संगठन मंत्री संभालेंगे पूरा प्रदेश…

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी ने अपने सभी संभागीय संगठन मंत्रियों को हटा दिया है। सभी छह संगठन मंत्रियों को प्रदेश कार्यसमिति का सदस्य बनाया गया है। पार्टी में लंबे समय से संगठन के स्तर पर बदलाव को लेकर प्रयास जारी थे। इस फैसले के साथ ही भाजपा में लंबे समय से चली आ रही संभागीय संगठन मंत्री की व्यवस्था को पूरी तरह खत्म कर दिया गया है। अब पार्टी के संगठन महामंत्री सुहास भगत और सह संगठन मंत्री हित आनंद शर्मा पूरे प्रदेश में इस व्यवस्था को संभालेंगे।

पिछले कुछ दिनों से भाजपा सरकार और संगठन में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। लंबे समय से पार्टी में नवाचार के जरिए नए लोग नई जिम्मेदारियों के साथ आ रहे हैं। वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव के पहले पार्टी ने संगठन मंत्रियों की नियुक्तियां की थी। इन सभी को पूर्णकालिक के तौर पर संघ से भाजपा में भेजा गया था। चुनाव नतीजों के ठीक बाद महाकौशल और विंध्य के सह संगठन मंत्री अतुल राय को गंभीर शिकायतों के बाद हटा दिया गया था।

प्रदेश में कांग्रेस सरकार का तख्तापलट होने के बाद संगठन में सह संगठन महामंत्री के तौर पर हित आनंद शर्मा की नियुक्ति की गई थी। इस बीच संभागीय संगठन मंत्री पार्टी में एक नया पावर सेंटर बन गए थे जिनका जिला अध्यक्षों से लेकर प्रदेश अध्यक्ष से समन्वय का काम था। इनमें से कुछ संगठन मंत्री विधायक और सरकार से जुड़े लोगों खासतौर पर मंत्रियों को सीधे निर्देशित कर रहे थे। उनके इस रवैये से सरकार और संगठन में भी नाराजगी थी।

पार्टी ने करीब 6 महीने पहले सभी संभागीय संगठन मंत्रियों को हटाने का फैसला कर लिया था लेकिन इसकी घोषणा नहीं की गई थी। शनिवार को पार्टी के प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी के हस्ताक्षर से जारी आदेश में सभी छह संभागीय संगठन मंत्रियों को पार्टी का प्रदेश कार्यसमिति सदस्य बनाने की बात कही गई है।

इनमें शैलेंद्र बरुआ जबलपुर और नर्मदा पुरम संभाग, जितेंद्र लिटोरिया उज्जैन संभाग, श्याम महाजन रीवा और शहडोल संभाग, आशुतोष तिवारी भोपाल और ग्वालियर संभाग, जयपाल चावड़ा इंदौर संभाग और केशव सिंह भदोरिया चंबल और सागर संभाग के संगठन मंत्री थे।

error: Content is protected !!