Breaking News
.

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने कहा- लॉकडाउन से मजदूरों को भारी आर्थिक क्षति व बेरोजगारी का करना पड़ रहा सामना, भूपेश सरकार दे राहत

पेंड्रा (अमित रजक)। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इकाई पेंड्रारोड ने 26 जून को कलेक्टर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम ज्ञपन सौंपकर विद्यार्थियों के समस्याओं के निराकरण करने की मांग की है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने सौंपे गए ज्ञापन में कहा है कि जिले के अधिकांश छात्र मजदूर परिवार से हैं। चूंकि नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा किए गए लॉकडाउन की वजह से मजदूरों को भारी आर्थिक क्षति हुई है। ऐसी स्थिति में इन परिवारों से संबंध रखने वाले विद्यार्थी शुल्क भुगतान करने में सक्षम नहीं हैं और वो अभी से कॉलेज के प्रवेश शुल्क को लेकर चिंतित हैं। छात्रों की समस्या को ध्यान में रखते हुए प्रवेश शुल्क माफ़ की जाए।

कोरोना व लॉकडाउन के कारण बेरोजगारी चरम पर है, ऐसे में भर्ती की प्रक्रिया जल्द शुरू किया जाए। कोरोना के खतरे को देखते हुए कुछ दिनों पहले सरकार ने कॉलेज के नियमित छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए उन्हें मूल्यांकन पद्धति बदल कर कक्षोन्नति प्रदान किया गया था लेकिन सरकार द्वारा प्राइवेट अध्ययन करने वाले छात्रों का कोई ध्यान नहीं रखा गया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पदाधिकारी व कार्यकर्ता यह मांग करते हैं कि जिस मूल्यांकन पद्धति के द्वारा नियमित छात्रों को कक्षोन्नति प्रदान किया गया है उसी पद्धति का प्रयोग प्राइवेट छात्रों के लिए भी किया जाए।

error: Content is protected !!