लखनऊ/उत्तरप्रदेश

लखीमपुर केस में एसआईटी ने किया बड़ा खुलासा, कहा- विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को मारने के इरादे से चढ़ाई गई थी उन पर गाड़ी…

लखनऊ। यूपी के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा की जांच कर रही एसआईटी ने बड़ा खुलासा किया है। बता दें कि एसआईटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को मारने के इरादे से उनपर गाड़ी चढ़ाई गई थी। वो हादसा नहीं था। बता दें कि इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को मुख्य आरोपी बनाया गया है।

आशीष मिश्रा की जमानत अर्जी पर 6 जनवरी को सुनवाई होनी है। ऐसे में एसआईटी ने कोर्ट से धाराओं को और बढ़ाने का अनुरोध किया है। घटना स्थल और इलेक्ट्रानिक गैजेट का हवाला देते हुए एसआईटी का कहना है कि सामने आई जानकारियों से पता चला है कि किसानों पर गाड़ी चढ़ाई चलाने की घटना गलत इरादे से की गई थी।

वहीं इस मामले में आशीष मिश्रा और अन्य पहले से ही हत्या और साजिश के आरोपों का सामना कर रहे हैं। वहीं एसआईटी ने मांग की है कि आरोपियों पर “हत्या का प्रयास” और अन्य आरोप भी जोड़े जाएं।

बता दें कि एसआईटी के खुलासे के बाद राजनीति भी तेज हो गई है। समाजवादी पार्टी के नेता नावेद सिद्दीकी ने कहा कि इस मामले में अब सीबीआई से जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस हिंसा में किसानों की सीधे तौर पर हत्या की गई थी। एसआईटी ने अपनी जांच से पुष्ट कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने गृहराज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे की मांग की है।

Related Articles

Back to top button