Breaking News
.

मरवाही उपचुनाव में प्रतिष्ठा किसकी बचेगी, फैसला कल 10 नवंबर को …

पेंड्रा। मरवाही उपचुनाव के परिणाम कल 10 नवबंर को आ जाएगा। यहां पर मुकाबला सीधे कांग्रेस और भाजपा के बीच है। मगर सबकी निगाहें जोगी कांग्रेस की ओर है, जिसने भाजपा को यहां समर्थन दिया है। प्रशासन ने मतगणना की तैयारी कर ली है। मतगणना सुबह 8 बजे से शुरू होगी, लेकिन रूझान दो घंटे बाद 10 बजे से आना प्रारंभ होगा।

मरवाही विधानसभा उपचुनाव के लिए 3 नवंबर को मतदान हुआ। जैसा कि संभावना व्यक्त की जा रही थी, वोटिंग अधिक होगा। उस हिसाब से भी 75 प्रतिशत वोटिंग हुआ। वोटिंग के बाद से कांग्रेस और भाजपा अपने-अपने आंकड़े और समीकरण बनाने में लगे हैं। दोनों दल के अपने-अपने दावे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इस चुनाव को प्रतिष्ठा का चुनाव मानकर लड़े। मंत्रियों और विधायकों ने एक-एक बूथ पर नजर रखी। जोगी कांग्रेस को पिछले चुनाव में 74 हजार वोट मिले थे। पूरा समीकरण इसी वोट को लेकर है। कांग्रेस को यह भरोसा है कि जोगी कांग्रेस का वोट आखिर में कांग्रेस का ही था, इसलिए इस वोट को हम कांग्रेस में शिफ्ट कर लेंगे।

भाजपा भी यहां से आश्वस्त है। उनको लग रहा है कि जोगी कांग्रेस के समर्थन के बाद जोगी कांग्रेस का वोट भाजपा में शिफ्ट होगा। भाजपा ने भी यहां पूरी गंभीरता के साथ चुनाव लड़ी। एक तरफ कांग्रेस विकास को लेकर चुनाव लड़ी। भूपेश सरकार ने जिला बनाया। इससे लोग सरकार के पक्ष में नजर आए। विकास के लिए इस जिले को 5 सौ करोड़ मिला भी लेकिन चुनाव तो राजनीतिक दांव-पेंच से जीता जाता है। जोगी कांग्रेस की प्रतिष्ठा इस चुनाव में सीधे तौर पर न होने के बाद भी लगी हुई है। डा. रेणु जोगी गांव- गांव घूमीं हैं। अमित जोगी और धर्मजीत सिंह रणनीति बनाने में लगे रहे। भाजपा और जोगी कांग्रेस को यह भरोसा है कि जोगी कांग्रेस का वोट भाजपा प्रत्याशी को मिलेगा। दोनों दलों के दावों का अब समय समाप्त हो रहा है।

कल सुबह 8 बजे से गुरुकुल विद्यालय पेंड्रा में मतगणना होगी। सहायक निर्वाचन अधिकारी डिकेश पटेल ने बताया कि मतगणना की पूरी तैयारी कर ली गई है। मतगणना तीन कमरों में होगी। यहां कुल 17 टेबल मतगणना के लिए लगाए गए हैं। 14 टेबल में मशीन और 3 टेबल में डाक मतपत्र आदि होगा। कोरोना को ध्यान में रखते हुए सभी मतगणना अधिकारी और एजेंटों को मास्क पहनकर आना अनिवार्य है। जगह-जगह सेनेटाइजर की व्सवस्था की गई है। मतगणना स्थल पर थ्री टायर सिक्युरटी होगी। यहां दो गेट बनाए गए हैं। एक गेट से अधिकारी कर्मचारी एवं प्रेस के लोग जाएंगे, दूसरे गेट से राजनीतिक दलों के प्रत्याशी और अभिकर्ता ।

error: Content is protected !!